अपने ही जाल में फंस गया फर्जी आइआरएस.....
मुजफ्फरपुर। आखिरकार एक फर्जी आइआरएस अपने ही बुने जाल में रविवार को फंस गया। अपने आपको आइआरएस बताकर तामझाम दिखाते हुए सेखी बघारना कलुआही थाना क्षेत्र के नरार उतरवारी टोला निवासी नागेन्द्र ¨सह के पुत्र रोहित ¨सह के लिए काफी महंगा सौदा साबित हुआ। फर्जीवाड़ा का भेद खुलते ही फर्जी आइआरएस व नरार उतरवारी टोल निवासी रोहित ¨सह को मधुबनी पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। रोहित ¨सह अपने आपको ट्रेनी आइआरएस बता रहा था।

पूर्व में खुद को बता चुका है आइएएस दैनिक जागरण के पास सोशल साइट से प्राप्त यूपी के गाजियाबाद के एक अखबार (दैनिक जागरण नहीं ) में छपे रोहित का इंटरव्यू भी मौजूद है, जिसमें रोहित ¨सह अपने आपको 2017 बैच में आइएएस चयनित होने की जानकारी देकर अपना इंटरव्यू भी प्रकाशित करवा चुका है। वहीं इधर, अपने ग्रामीणों व मधुबनी जिले के अधिकारियों को रोहित ¨सह ट्रेनी आइआरएस होने के रुप में परिचय दे रहा था। कथिततौर पर डीएम, एसडीओ समेत जिले के कई प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों से मिलकर वह ट्रेनी आइआरएस के रुप में परिचय दिया करता था। कथित तौर पर इस आड़ में इसने पैरवी के नाम पर ठगी का धंधा भी शुरू कर दिया था। रोहित के कारनामे सूत्रों की मानें तो जन वितरण प्रणाली का लाइसेंस दिलाने के नाम पर कुछ लोगों को झांसे में लेकर अधिकारियों से भी पैरवी कराने में लगा था। इतना ही नहीं अपने रिश्तेदारों से जतीनी विवाद के मामले को अपने पक्ष में कराने क

Please log in to like,wonder,share and comment !

अपने ही जाल में फंस गया फर्जी आइआरएस.....
मुजफ्फरपुर। आखिरकार एक फर्जी आइआरएस अपने ही बुने जाल में रविवार को फंस गया। अपने आपको आइआरएस बताकर तामझाम दिखाते हुए सेखी बघारना कलुआही थाना क्षेत्र के नरार उतरवारी टोला निवासी नागेन्द्र ¨सह के पुत्र रोहित ¨सह के लिए काफी महंगा सौदा साबित हुआ। फर्जीवाड़ा का भेद खुलते ही फर्जी आइआरएस व नरार उतरवारी टोल निवासी रोहित ¨सह को मधुबनी पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। रोहित ¨सह अपने आपको ट्रेनी आइआरएस बता रहा था।

पूर्व में खुद को बता चुका है आइएएस दैनिक जागरण के पास सोशल साइट से प्राप्त यूपी के गाजियाबाद के एक अखबार (दैनिक जागरण नहीं ) में छपे रोहित का इंटरव्यू भी मौजूद है, जिसमें रोहित ¨सह अपने आपको 2017 बैच में आइएएस चयनित होने की जानकारी देकर अपना इंटरव्यू भी प्रकाशित करवा चुका है। वहीं इधर, अपने ग्रामीणों व मधुबनी जिले के अधिकारियों को रोहित ¨सह ट्रेनी आइआरएस होने के रुप में परिचय दे रहा था। कथिततौर पर डीएम, एसडीओ समेत जिले के कई प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों से मिलकर वह ट्रेनी आइआरएस के रुप में परिचय दिया करता था। कथित तौर पर इस आड़ में इसने पैरवी के नाम पर ठगी का धंधा भी शुरू कर दिया था। रोहित के कारनामे सूत्रों की मानें तो जन वितरण प्रणाली का लाइसेंस दिलाने के नाम पर कुछ लोगों को झांसे में लेकर अधिकारियों से भी पैरवी कराने में लगा था। इतना ही नहीं अपने रिश्तेदारों से जतीनी विवाद के मामले को अपने पक्ष में कराने क

Please log in to like,wonder,share and comment !

Sanju Director Raju Hirani's Version Of Why Aamir Khan Rejected Role Is A Bit Different From Actor's

Just a couple of days before, Aamir Khan had revealed why he refused to play Sunil Dutt's role in the upcoming film Sanju. Now, at the trailer launch event of the film, director Rajkumar Hirani opened up about what Aamir Khan said when he was offered the role of Sanjay Dutt's father. Sanju director told IANS that when he narrated the story to Aamir, he had asked him if he would play the role of Sunil Dutt but the actor refused to take up the role since he didn't want to play an older man post Dangal. "Aamir showed me Dangal and said, 'look I'm already playing an older man's role. And after Dangal, my next film has me play an older man again, then people will stop giving me a young man's role!' That was a valid argument. Finally, we had Pareshji (Rawal) playing Dutt saab," Mr Hirani told IANS.

Please log in to like,wonder,share and comment !