Track the teller support the career
Understand your self
Back To Top

News Update

About Us

DMIT Basics (DMIT टेस्ट क्यों जरुरी है?) Posted by: Nitn yadav in DMIT & MIDBRAIN, प्रत्येक माँ बाप का यह स्वपन होता हैं कि उनका बच्चा बुद्धिमान हो, उच्च अभ्यास करने वाला हो और समाज में उच्च स्तर प्राप्त करने वाला बने. यह बच्चा क्या अभ्यास करेगा, उसका भविष्य कैसा होगा आदि जानकारी के प्रति ज्यादा उत्सुकता रहती है. और अगर यह जानकारी बच्चे कि बाल्यावस्था में या अभ्यास के महत्वपूर्ण पड़ाव के पहले मिल जाये तो माँ बाप इस बहुमूल्य जानकारी का सही उपयोग करके अपने बच्चे को सही मार्गदर्शन, प्रोत्साहन एवं योग्य क्षेत्र में शिक्षा दिलाने का अच्छा प्रबंध करके उनके श्रेष्ठ भविष्य निर्माण में सहयोग कर सकते हैं. पिछले कई सालों से इस प्रकार का मार्गदर्शन ज्योतिषशास्त्र की विभिन्न विधियों से किया जाता है लेकिन इस विधि में एक सामान रूपता नहीं पायी जाती है इसलिए इस विधि में पूर्णतया विश्वास करना थोडा कठिन होता है. परन्तु अब इस महान वैज्ञानिक विधि से फिंगर प्रिंट के माध्यम से बहुत ही आसानी से, पूर्णतया यकीनी मार्गदर्शन मिल सकता है. इसे ही Dermatoglyphics Multiple Intelligences Test (DMIT) कहा जाता है. Expert Vision Group एक एसी संस्था है जो इस परिक्षण से किसी भी व्यक्ति (बच्चा या बड़ा) की सही जानकारी एवं उपयुक्त परामर्श देती है. इस वैज्ञानिक परिक्षण से किसी भी व्यक्ति की विभिन्न प्रकार की बुद्धि की जानकारी प्राप्त करके, उसमें क्या अच्छाईयाँ व् कमियां हैं, उसका स्वभाव, व्यवहार, पठन की रूचि, याद करने की क्षमता आदि कई पह्लुयों को जाना जा सकता है. इस जानकारी का उपयोग करके अपने बच्चे के लक्ष्य प्राप्ति में उपयुक्त कार्यवाही कर सकते हैं. बच्चा आपका उसका कैरियर बनाने का तरीका हमारा बच्चे के कैरियर का सच्चा निर्माता Expert Vision Group= DMIT क्या है? बच्चा जब माँ के गर्भ में होता है तब १३-२१ सप्ताह में उसका दिमाग बन जाता है तथा ठीक उसी समय उसके फिंगर प्रिंट्स भी बन जाते हैं. बहुत सारी वैज्ञानिक खोजों के द्वारा यह साबित हो चूका हैं कि फिंगर प्रिंट्स एव दिमाग में बहुत बड़ा सम्बन्ध है. इनकी सहायता से किसी भी व्यक्ति क़ी पैदायशी प्रतिभायों को जाना जा सकता है दिमाग नहीं तो फिंगर प्रिंट्स भी नहीं. लाखों में एक एसा बच्चा पैदा होता है जिसके दिमाग ही नहीं होता है तो उस बच्चे के किसी भी प्रकार के फिंगर प्रिंट्स भी नहीं पाए गए थे. DMIT क्यों.? • क्या आप जानते हैं की भारत में प्रतिवर्ष १२००० से अधिक स्टूडेंट्स परीक्षा सम्बंधित तनाव के कारण आत्महत्या करते हैं ? • क्या आप जानते हैं की एक दो साल का बच्चा भी तनाव का शिकार हो सकता है? • बचपन अब बच्चों का खेल नहीं है और आप सोचते हैं की यह आपके बच्चे के साथ नहीं हो सकता ? ठीक ? क्योंकि आप अपने बच्चे को बहुत अच्छी तरह से जानते हैं, और अपने बच्चों की सभी जरूरतों के बारे में पूर्णतया समझते हैं. तो क्या आप कुछ सवालों के जवाब देने के लिए तैयार हैं ? अपने बच्चे के बारे में……… एक पेन और कागज लीजिये और अपने जवाब लिखिए……… 1. आपका बच्चा अच्छी तरह से कैसे सीखता है? “करकर” “देखकर” या “सुनकर“? 2. आपका बच्चा किस चीज में कुशल है? काम की योजना में या काम करने में.? 3. क्या आपका बच्चा “तार्किक” है या “रचनात्मक”? 4. क्या आपके बच्चे में कोई छुपी हुई विशेष प्रतिभा है, जो आप नहीं पहचानते ? 5. क्या आपका बच्चा उससे अधिक बुद्धिमान है जितना आप उसे समझते हैं? 6. क्या आप अपने बच्चे की ९ प्रकार की बुधिम्तायों में से सबसे ज्यादा प्रभावशाली बुधिमता के बारे में जानते हैं? 7. क्या आप वास्तव में “रूचि” और “प्रतिभा” में अंतर समझते हैं? क्या आपको उपरोक्त प्रश्नों के उत्तर नहीं मिल रहे हैं ? और क्या आप वास्तव में अपने बच्चे को जानना चाहते हैं. यह सभी उत्तर तथा और भी बहुत कुछ आप अपने बच्चे के बारे में DMIT के द्वारा जान सकते हैं. DMIT की मदद से आप अपने बच्चे की जन्मजात प्रतिभाएं, कैरियर चयन और मस्तिष्क के विकास के कई पहलूओं के बारे में जान सकते हैं. क्या आपने कभी स्वयं से यह प्रश्न पूछा है – “क्यों?“ एक जैसी उम्र एक ही क्लास वही टीचर वही किताबें वही पढाने का तरीका और परिणाम अलग-अलग फिर क्यों…… कुछ बहुत अच्छे कुछ मध्यम और कुछ बहुत खराब विद्यार्थी हमारे पास आपके इन सब “क्यों” का जवाब है.

Video

Enquiry

Contact Us