अमृतसर रेल हादसा: ये एक ऑर्डर बचा सकता था 60 जिंदगियां

रेलवे अपने ड्राइवर को कॉशन आर्डर जारी कर देता. इस आर्डर के बाद उस खास एरिया में ट्रेन की स्पीड कम कर ली जाती है.

Posted 7 meses in Viajes y Eventos.

User Image
Raj Singh
113 Amigos
1 Puntos de vista
22 Unique Visitors
एक ऑर्डर किसी की भी जिंदगी बना और बिगाड़ सकता है. ब्यूरोकेसी में ये कहावत बहुत प्रचालित है. ऐसी ही बात अमृतसर रेल हादसे को लेकर भी कही जा रही है, जहां एक ऑर्डर 60 जिंदगियां बचा सकता था. जरूरत थी तो बस रेलवे को एक सूचना देने की कि यहां पर शाम को दहशरा का मेला लगने जा रहा है. इसके बाद रेलवे अपने ड्राइवर को कॉशन ऑर्डर जारी कर देता. इस ऑर्डर के बाद उस खास एरिया में ट्रेन की स्पीड कम कर ली जाती है.


रेलवे से रिटायर्ड 78 वर्षीय ड्राइवर दयाचंद बताते हैं, “जब भी रेलवे ट्रैक पर मरम्मत का काम चलता है, या फिर ट्रैक के किनारे कहीं भीड़ जमा होने की आशंका रहती है तो रेलवे का कंट्रोलर अधिकारी उस खास एरिया के ट्रैक से गुजरने वाली ट्रेन के ड्राइवरों के लिए एक कॉशन ऑर्डर जारी करता है.''

वह कहते हैं, 'इस कॉशन ऑर्डर में ट्रेन को हिदायत दी जाती है कि उस खास एरिया में ट्रैक पर काम चल रहा है, ट्रैक के आसपास कोई कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है जहां भीड़ इकट्ठा होगी इसलिए आप ट्रेन को बताई गई स्पीड से चलाएंगे.'
दयाचंद बताते हैं, 'ऐसे में ट्रेन का ड्राइवर कंट्रोलर द्वारा बताई गई स्पीड पर ट्रेन को चलाता है और ट्रेन चलाते समय उस एरिया के लिए खासतौर से और अलर्ट हो जाता है. भीड़ होती है तो दूर से ही हॉर्न बजाना शुरू कर देता है. मैं आपको अमृतसर जैसा ही एक मामला बताता हूं कि आगरा-मथुरा के बीच में हर साल नरी सेमरी देवी का मेला लगता है. खास बात ये है कि ये मेला रेल ट्रैक के किनारे ही लगता है. लेकिन अच्छी बात ये है कि मेला आयोजक दो-तीन दिन पहले ही रेलवे को जानकारी दे देते हैं. जिसके चलते रेलवे कॉशन ऑर्डर जारी कर देता है और 5 से 6 ट्रेन का ठहराव भी वहां दो-तीन दिन के लिए होने लगता है.'

More Related Blogs

Article Picture
Raj Singh 4 meses 4 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 2 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 2 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 2 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 3 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 2 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 2 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 3 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 4 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 4 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 2 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 4 meses 1 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 5 meses 3 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 5 meses 3 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 5 meses 3 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 5 meses 2 Puntos de vista
Article Picture
Raj Singh 5 meses 2 Puntos de vista
Back To Top