आचार संहिता की खूब उड़ी धज्जियां

आजमगढ़ और लालगंज लोकसभा सीटों से दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' और नीलम सोनकर ने नामांकन दाखिल किया

Posted 5 months ago in News and Politics.

User Image
Deepak lovewanshi
168 Friends
1 Views
1 Unique Visitors
लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण की नामांकन प्रक्रिया चल रही है। नामांकन के पांचवे दिन शनिवार को आजमगढ़ और लालगंज लोकसभा सीटों से दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' और नीलम सोनकर ने नामांकन दाखिल किया। 'निरहुआ' के नामांकन जुलूस में काफी गहमागहमी रही। 'निरहुआ' के नामांकन की तस्वीरें देखें आगे की स्लाइड्स में
नामांकन के पांचवे दिन शनिवार को भाजपा के दोनों लोकसभा सीटों के प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया। भाजपा की लालगंज प्रत्याशी नीलम सोनकर ने सादगी के साथ नामांकन किया लेकिन आजमगढ़ सीट से भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ने अपनी फिल्म 'निरहुआ रिक्शावाला' की यादें ताजा कर दीं। कलेक्ट्रेट चौराहे पर नामांकन के लिए जाते समय भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में धक्कामुक्की भी हुई।
वैसे तो लालगंज प्रत्याशी नीलम सोनकर को आजमगढ़ प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ के रिक्शे पर बैठकर करीब दोपहर डेढ़ बजे नामांकन करने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंचना था लेकिन वह समर्थकों के हुजूम के साथ लगभग 12 बजे कलेक्ट्रेट नामांकन करने पहुंच गईं। उनके आने के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्र नाथ पांडेय लगभग 12:15 बजे पुलिस लाइन हेलीकॉप्टर से पहुंचे। जहां से वह सीधे डीएवी इंटर कालेज मैदान में पहुंचकर जनसभा को संबोधित करने लगे। 
शनिवार को नामांकन के लिए जाने से पहले 'निरहुआ' ने नगर क्षेत्र के सभी प्रमुख मंदिरों में मत्था टेका। इसके बाद ही वह जनसभा स्थल पर पहुंचे। इसके बाद दिनेश लाल यादव डीएवी इंटर कॉलेज से रिक्शा चलाकर फिल्म 'निरहुआ रिक्शावाला' का गीत गाते हुए कार्यकर्ताओं के साथ निकले। निरहुआ का काफिला डीएवी इंटर कॉलेज से निकलकर रैदोपुर, नेहरू हॉल होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचा। 
पुलिस ने नेहरू हॉल बैरिकेडिंग के पास ही कार्यकर्ताओं को रोकने का प्रयास किया लेकिन कार्यकर्ता पुलिस से धक्कामुक्की करते हुए आगे बढ़ गए। इसके बाद कलेक्ट्रेट चौराहे पर जब 'निरहुआ' ने अंदर प्रवेश किया तो पुलिस ने बैरिकेडिंग पर कार्यकर्ताओं को रोकने का प्रयास किया लेकिन कार्यकर्ता धक्कामुक्की करते हुए अंदर जाने लगे। तब पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर उन्हें पीछे धकेला। लेकिन तब तक काफी संख्या में कार्यकर्ता नामांकन स्थल के मुख्य गेट तक पहुंच गए। कार्यकर्ताओं द्वारा की जा रही नारेबाजी से पूरा क्षेत्र गूंज रहा था। 
निरहुआ' के नामांकन के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर आचार संहिता की धज्जियां उड़ाई। कलेक्ट्रेट चौराहे से जहां प्रत्याशी और उसके प्रस्तावकों को छोड़कर किसी को जाने की इजाजत नहीं थी। वहीं दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता पुलिस से धक्का मुक्की कर नामांकन स्थल के गेट तक पहुंच गए। 
नामांकन के दौरान कलेक्ट्रेट चौराहे पर प्रशासन द्वारा बैरिकेडिंग की गई है। इसके आगे कई मीडियाकर्मियों को भी कवरेज करने की इजाजत नहीं दी गई, लेकिन भाजपा कार्यकर्ता जब 'निरहुआ' के साथ पहुंचे तो उनके सामने पुलिस भी बेबस नजर आई। भाजपा सांसद नीलम सोनकर नामांकन करने के लिए 'निरहुआ' से पहले पहुंच गईं, लेकिन उन्हें काफी देर तक बाहर ही इंतजार करना पड़ा। क्योंकि उनके प्रस्तावक वहां नहीं पहुंचे थे। काफी देर बाद जब वह पहुंचा तो नीलम सोनकर ने नामांकन किया। यही स्थिति 'निरहुआ' की रही। उनके प्रस्तावक श्रीकृष्ण पाल और मंजू सरोज काफी देरी से पहुंचे।

More Related Blogs

Back To Top