एयर स्ट्राइक के लिए फाइटर प्लेन मिराज ने यहां से भरी थी उड़ान, यहां है एयरफोर्स का एयरबेस

भोपाल. पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, भारतीय एयर फोर्स ने मंगलवार सुबह करीब साढ़े तीन बजे पाकिस्तान स्थिति कई आतंकी ठिकानों पर हमला किया है। ये हमला मिराज विमान के द्वारा किया गया है। माना रहा है हमले करने वाले मिराज विमान

Posted 8 months ago in Other.

User Image
suresh machar
69 Friends
10 Views
42 Unique Visitors
क्योंकि मिराज फाइटर प्लेन का एयरबेस ग्वालियर में स्थिति है। ऐसा माना जा रहा है कि इस हमले के लिए जिन फाइटर प्लेन ने पाकिस्तान में हमला किया है उन्होंने ग्वालियर से उड़ान भरी थी।
ग्वालियर में सुखोई, मिराज व अन्य फाइटर प्लेन के लिए सामरिक दृष्टि से सबसे महत्वपूर्ण एयरबेस है। हाल ही में 3 राफेल लड़ाकू विमान ग्वालियर एयरबेस पर उतरे थे। माना जा रहा था कि इस दौरान भारतीय पायलट भी इस विमान को उड़ाने की ट्रेनिंग दी गई थी। जबकि फ्रांस के पायलट मिराज 2000 लड़ाकू विमान को भी ग्वालियर में उतारा गया था। एयरफोर्स का अयरबेस पहले आगरा में था लेकिन पाकिस्तान की जद में आने के बाद ग्वालियर का एयरफोर्स का एयरबेस बनाया गया था। सुरक्षा की दृष्टि से ग्वालियर एयरबेस सबसे मजबूत एयरबेस माना जाता है।
जानकारी के अनुसार, मंगलवार सुबह एलओसी पर जैश के ठिकानों पर 1000 किलोग्राम के बम गिराए गए। हालांकि, भारत की ओर से अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है। इस हमले में कई आतंकियों के कई ठिकाने और लॉन्च पैड तबाह हो गए। यह हमला 12 मिराज विमानों द्वारा किया गया है। सूत्रों के अनुसार- बालाकोट, चकोटी, मुजफ्फराबाद में जैश के ठिकाने तबाह कर दिए गए हैं। बालाकोट पाकिस्तान के प्रांत खैबर पख्तूनख्वाह में स्थित है। हमले वाली जगह एलओसी से करीब 50 किलोमीटर दूर है।
मध्यप्रदेश में जश्न
सर्जिकल स्ट्राइक की खबर के बाद मध्यप्रदेश के लोगों में जश्न का महौल है। सोशल मीडिया में लोग तरह-तरह से अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। पुलवामा हमले के बाद जहां पूरा देश गुस्से में है वहीं कुछ लोगों ने अपने विरोध का अगल ही तरीका निकाला है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में लोगों ने रोड़ पर पाकिस्तान का झंडा पेंट कर पाकिस्तान मुर्दाबाद लिखा गया है। लोगों का गुस्सा शांत नहीं हुआ जिसके बाद पाकिस्तानी झंडे पर चप्पलें भी मारी गई है। इस झंडे को भोपाल की सड़क पर लगाए गए हैं।पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुआ आतंकी हमले के बाद भारत ने आतंकियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए पीओके में जैश-ए-मोहम्मद के 200 से ज्यादा आतंकी मार गिराए. एयरफोर्स के 12 मिराज लड़ाकू विमानों ने पीओके में घुसकर जैश के 5 आतंकी कैंपों को तबाह कर दिया. ये ऑपरेशन पीओके के बालाकोट में किया गया, जिसकी बात खुद पाकिस्तान ने भी मानी है. सूत्रों के मुताबिक ये ऑपरेशन पूरे 21 मिनट तक चला. आइए आपको बताते हैं कि कैसे एयरफोर्स ने पुलवामा हमले का बदला लिया.


1. इस हमले को भारतीय थल सेना और वायुसेना ने मिलकर किया. एयरफोर्स को खुफिया एजेंसियों से मिली जानकारियां दी गई और इसके बाद अक्षांश रेखांश के आधार पर ऑपरेशन पिन पॉइंट किया गया.


2. ऑपरेशन के लिए 12 मिराज विमानों को चयन हुआ, जो कि एक मल्टी रोल कॉम्बैट विमान है. मिराज एयर टू एयर और एयर टू सरफेस मिसाइल दागने में माहिर है.


3. ये ऑपरेशन बेहद गुप्त था, जिसमें मल्टी डाइमेंशन पैड्स से स्ट्राइक्स की गई, एयफोर्स के 12 मिराज विमान 3 से 4 मिनट में पाकिस्तानी सीमा में 2300 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से घुसे और रात 3.30 बजे एयर स्ट्राइक की गई.


4. एयर स्ट्राइक में लेजर गाइड बमों का इस्तेमाल हुआ, सूत्रों के मुताबिक मिराज से कुल 1000 किलो बम बरसाए गए, जिसमें जैश का अल्फा 3 कंट्रोल रूम और 5 कैंप तबाह हुए. हमले में 200 से ज्यादा आतंकी मारे गए.


5. वायुसेना ने बालाकोट,चकोटी में हमला किया, यहां आतंकियों के लॉन्चिंग पैड थे. यहां पर आतंकियों को पाकिस्तानी सेना और ISI ट्रेनिंग देती है. यहां फिदायीन भी तैयार कर उन्हें सीमा पार कराई जाती है.


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Tags: good,

More Related Blogs

Back To Top