कपिल शर्मा शो से निकाले जाने के तुरंत बाद सिद्धू ने दिया बड़ा बयान, जानकर होंगे हैरान

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू विवादों से घिर गए हैं। अपने पाकिस्तान समर्थक बयानों के चलते उन्हें कपिल शर्मा के शो से भी बाहर कर दिया गया।

Posted 7 months ago in Other.

User Image
Abhishek Gaur
37 Friends
1 Views
1 Unique Visitors
जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू विवादों से घिर गए हैं। अपने पाकिस्तान समर्थक बयानों के चलते उन्हें कपिल शर्मा के शो से भी बाहर कर दिया गया। उन्होंने अपने एक बयान में कहा कि देश पहले आता है और दोस्ती बाद में। लेकिन चंद कायरों की वजह से पूरे पाकिस्तान को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।


गूगल
सिद्धू ने पाकिस्तान समर्थक ऐसे बयान दिए। जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। उन्होंने अपने पहले के बयानों पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे बयानों को तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि मैं अब भी अपने बयान पर कायम हूँ कि आतंकवाद का ना कोई धर्म होता है, ना जाति और ना ही मजहब।


गूगल
सिद्धू ने आगे भी कहा कि," उन्हें अभी भी पाकिस्तान के सेनाप्रमुख बाजवा या पीएम इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाने का कोई पछतावा नहीं है। पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जी भी पाकिस्तान गए और फिर कारगिल युद्ध हो गया। पीएम नरेंद्र मोदी तो बिना निमंत्रण ही वहाँ गए थे। और इसलिए मुझे वहाँ जाने का कोई पछतावा नहीं है।"
जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू विवादों से घिर गए हैं। अपने पाकिस्तान समर्थक बयानों के चलते उन्हें कपिल शर्मा के शो से भी बाहर कर दिया गया। उन्होंने अपने एक बयान में कहा कि देश पहले आता है और दोस्ती बाद में। लेकिन चंद कायरों की वजह से पूरे पाकिस्तान को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।


गूगल
सिद्धू ने पाकिस्तान समर्थक ऐसे बयान दिए। जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। उन्होंने अपने पहले के बयानों पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे बयानों को तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि मैं अब भी अपने बयान पर कायम हूँ कि आतंकवाद का ना कोई धर्म होता है, ना जाति और ना ही मजहब।


गूगल
सिद्धू ने आगे भी कहा कि," उन्हें अभी भी पाकिस्तान के सेनाप्रमुख बाजवा या पीएम इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाने का कोई पछतावा नहीं है। पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जी भी पाकिस्तान गए और फिर कारगिल युद्ध हो गया। पीएम नरेंद्र मोदी तो बिना निमंत्रण ही वहाँ गए थे। और इसलिए मुझे वहाँ जाने का कोई पछतावा नहीं है।"जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू विवादों से घिर गए हैं। अपने पाकिस्तान समर्थक बयानों के चलते उन्हें कपिल शर्मा के शो से भी बाहर कर दिया गया। उन्होंने अपने एक बयान में कहा कि देश पहले आता है और दोस्ती बाद में। लेकिन चंद कायरों की वजह से पूरे पाकिस्तान को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।


गूगल
सिद्धू ने पाकिस्तान समर्थक ऐसे बयान दिए। जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। उन्होंने अपने पहले के बयानों पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे बयानों को तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि मैं अब भी अपने बयान पर कायम हूँ कि आतंकवाद का ना कोई धर्म होता है, ना जाति और ना ही मजहब।


गूगल
सिद्धू ने आगे भी कहा कि," उन्हें अभी भी पाकिस्तान के सेनाप्रमुख बाजवा या पीएम इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाने का कोई पछतावा नहीं है। पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जी भी पाकिस्तान गए और फिर कारगिल युद्ध हो गया। पीएम नरेंद्र मोदी तो बिना निमंत्रण ही वहाँ गए थे। और इसलिए मुझे वहाँ जाने का कोई पछतावा नहीं है।"


गूगल
नवजोत सिंह सिद्धू ने आगे कहा,"हमारे जवानों को मारे जाने से रोकने का एकमात्र तरीका है- अंतरराष्ट्रीय दबाव। जो कि लगातार किया जा रहा है। इस घटना में शामिल सभी दोषियों को कठोर दंड मिलना चाहिए।"
जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू विवादों से घिर गए हैं। अपने पाकिस्तान समर्थक बयानों के चलते उन्हें कपिल शर्मा के शो से भी बाहर कर दिया गया। उन्होंने अपने एक बयान में कहा कि देश पहले आता है और दोस्ती बाद में। लेकिन चंद कायरों की वजह से पूरे पाकिस्तान को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।


गूगल
सिद्धू ने पाकिस्तान समर्थक ऐसे बयान दिए। जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। उन्होंने अपने पहले के बयानों पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे बयानों को तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि मैं अब भी अपने बयान पर कायम हूँ कि आतंकवाद का ना कोई धर्म होता है, ना जाति और ना ही मजहब।


गूगल
सिद्धू ने आगे भी कहा कि," उन्हें अभी भी पाकिस्तान के सेनाप्रमुख बाजवा या पीएम इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में जाने का कोई पछतावा नहीं है। पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जी भी पाकिस्तान गए और फिर कारगिल युद्ध हो गया। पीएम नरेंद्र मोदी तो बिना निमंत्रण ही वहाँ गए थे। और इसलिए मुझे वहाँ जाने का कोई पछतावा नहीं है।"


गूगल
नवजोत सिंह सिद्धू ने आगे कहा,"हमारे जवानों को मारे जाने से रोकने का एकमात्र तरीका है- अंतरराष्ट्रीय दबाव। जो कि लगातार किया जा रहा है। इस घटना में शामिल सभी दोषियों को कठोर दंड मिलना चाहिए।"

गूगल
नवजोत सिंह सिद्धू ने आगे कहा,"हमारे जवानों को मारे जाने से रोकने का एकमात्र तरीका है- अंतरराष्ट्रीय दबाव। जो कि लगातार किया जा रहा है। इस घटना में शामिल सभी दोषियों को कठोर दंड मिलना चाहिए।"

गूगल
नवजोत सिंह सिद्धू ने आगे कहा,"हमारे जवानों को मारे जाने से रोकने का एकमात्र तरीका है- अंतरराष्ट्रीय दबाव। जो कि लगातार किया जा रहा है। इस घटना में शामिल सभी दोषियों को कठोर दंड मिलना चाहिए।"

More Related Blogs

Back To Top