कुछ दिनों पहले भारतीय वायुसेना ने जब पीओके में बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक की तो उसके बाद भारतीय प्

किस तरह फाइटर विमानों का 'राजा' है राफेल , जानें उसकी पूरी खासियतें
News18 Hindi 07 Mar. 2019 10:47

Posted 6 months ago in News and Politics.

User Image
Shaikh Aejaz
318 Friends
4 Views
27 Unique Visitors
कुछ दिनों पहले भारतीय वायुसेना ने जब पीओके में बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक की तो उसके बाद भारतीय प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर हमारे पास राफेल विमान होते तो तस्वीर ही दूसरी होती. ये भी कहा जा रहा है कि पाकिस्तान के पास मौजूद एफ-16 विमानों का मुकाबला अगर कोई विमान कर सकता है तो वो राफेल है. इसकी खासियतें इतनी जबरदस्त हैं कि इसे आसानी से दुनिया के बेहतरीन लड़ाकू विमानों की फ्रंट लाइन पर रखा जा सकता है.


राफेल विमान क्या है?

राफेल एक फ्रांसीसी कंपनी डैसॉल्ट एविएशन निर्मित दो इंजन वाला मध्यम मल्टी-रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एमएमआरसीए) है. राफेल लड़ाकू विमानों को 'ओमनिरोल' विमानों के रूप में रखा गया है, जो कि युद्ध में अहम रोल निभाने में सक्षम हैं. ये बखूबी ये सारे काम कर सकती है- वायु वर्चस्व, हवाई हमला, जमीनी समर्थन, भारी हमला और परमाणु प्रतिरोध.


मनुष्यों ने क्यों जानवरों का दूध पीना शुरू किया


भारत ने राफेल को क्यों चुना है?

राफेल भारत का एकमात्र विकल्प नहीं था. कई अंतरराष्ट्रीय विमान निर्माताओं ने भारतीय वायुसेना से पेशकश की थी. बाद में छह बड़ी विमान कंपनियों को छांटा गया. इसमें लॉकहेड मार्टिन का एफ -16, बोइंग एफ / ए -18 एस, यूरोफाइटर टाइफून, रूस का मिग -35, स्वीडन की साब की ग्रिपेन और रफाले शामिल थे.


सभी विमानों के परीक्षण और उनकी कीमत के आधार पर भारतीय वायुसेना ने यूरोफाइटर और राफेल को शॉर्टलिस्ट किया. डलास ने 126 लड़ाकू विमानों को उपलब्ध कराने के लिए अनुबंध हासिल किया, क्योंकि ये सबसे सस्ता मिल रहा था. कहा गया कि इसका रखरखाव भी आसान है.


कैसे भारतीय रडार ने पाकिस्तानी F-16 को पकड़ा?



NEWS18 Graphics


खरीद प्रक्रिया कब शुरू हुई?

भारतीय वायु सेना ने 2001 में अतिरिक्त लड़ाकू विमानों की मांग की थी. वर्तमान आईएएफ बेड़े में बड़े पैमाने पर भारी और हल्के वजन वाले विमान होते हैं रक्षा मंत्रालय मध्यम वजन वाले लड़ाकू विमान लाना चाहता था. वैसे इसकी वास्तविक प्रक्रिया 2007 में शुरू हुई. रक्षा मंत्री ए के एंटनी की अध्यक्षता वाली रक्षा अधिग्रहण परिषद ने अगस्त 2007 में 126 विमान खरीदने के प्रस्ताव पर हरी झंडी दे दी.


1971: आम चुनाव से पहले ही हो गए कांग्रेस में दो फाड़, ये थी मुसीबत की वजह


कितने राफेल खरीद रहे हैं और लागत क्या है?

इस सौदे की शुरुआत 10.2 अरब डॉलर (5,4000 करोड़ रुपये) से होनी अपेक्षित थी. 126 विमानों में 18 विमानों को तुरंत लेने और बाकि की तकनीक भारत को सौंपे जाने की बात थी. लेकिन बाद में इस सौदे में अड़चन आ गई.


फिर क्या हुआ?

राफेल के लिए भारतीय पक्ष और डेसॉल्ट ने 2012 में फिर बातचीत शुरू हुई. जब नरेंद्र मोदी की सरकार सत्ता में आई तो उसने वर्ष 2016 में इस सौदे को फिर नई शर्तों और कीमत पर फिर किया.


यह देरी क्यों?

भारत और फ्रांस दोनों ने वार्ताओं का दौरान राष्ट्रीय चुनाव और सरकार में बदलाव देखा. कीमत भी एक अन्य कारण था. यहां तक कि खरीद समझौते के हस्ताक्षर के दौरान, दोनों पक्ष वित्तीय पहलुओं पर एक निष्कर्ष तक नहीं पहुंच पा रहे थे. विमान की कीमत लगभग 740 करोड़ रुपये है. भारत उन्हें कम से कम 20 फीसदी कम लागत पर चाहता था. शुरुआत में योजना 126 जेट खरीदने की थी, अब भारत ने इसे घटाकर 36 कर दिया.


भारत और फ्रांस दोनों के लिए सौदा कितना अहम?

फिलहाल फ्रांस, मिस्र और कतर राफेल जेट विमानों का उपयोग कर रहे हैं. हालांकि डेसॉल्ट कंपनी की माली हालत ठीक नहीं है. कंपनी को उम्मीद थी कि भारत से सौदे के बाद कंपनी अपने राजस्व लक्ष्यों को पूरा कर पाएगी. भारत ने रूस के मिग की बजाय डेसाल्ट को चुना. भारत ने अमेरिका के लॉकहीड को भी नजरअंदाज कर दिया था.


राफेल 'दस्तावेजों की चोरी' के बाद उठ रहे हैं सवाल, जानें ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के बारे में?


नई सरकार में क्या हुआ?

अप्रैल 2015 में नरेंद्र मोदी ने पेरिस का दौरा किया. तभी 36 राफेल खरीदने का फैसला किया गया. बाद में एनडीए सरकार ने इस सौदे पर वर्ष 2016 में साइन कर दिए. जब फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांकोइस होलैंड ने जनवरी में भारत का दौरा किया तब राफेल जेट विमानों की खरीद के 7.8 अरब डॉलर के सौदे पर हस्ताक्षर हुए.


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Tags: Raafel,

More Related Blogs

Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 10 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 11 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 10 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 9 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 11 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 16 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 20 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 9 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 10 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 31 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 34 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 26 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 28 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 204 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 53 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 22 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 7 Views
Back To Top