चार साल की उम्र में राज दरबार में क्यों जाती थीं रानी लक्ष्मीबाई

रानी लक्ष्मीबाई 1857 के प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगना थीं। उनका जन्म वाराणसी के भदैनी नगर में 19 नव

Posted 11 months ago in Other.

User Image
khushboo mehar
93 Friends
3 Views
24 Unique Visitors
रानी लक्ष्मीबाई के बचपन का नाम मणिकर्णिका था, लोग प्यार उसे मनु कहकर बुलाते थे। मनु की माता का नाम भागीरथीबाई और पिता का नाम मोरोपंत तांबे था। इस लेख में आगे जानिए रानी लक्ष्मीबाई के बारे में विस्तार से।चार वर्ष की मनु बाजीराव के दरबार में लक्ष्मीबाई के पिता मोरोपंत मराठा बाजीराव की सेवा में थे। मनु की उम्र जब महज चार वर्ष थी तो उनकी माता का देहांत हो गया। अब मनु की देखभाल करने वाला घर में कोई नहीं था। इसलिए मोरोपंत मनु को चार वर्ष की आयु से ही अपने साथ बाजीराव के दरबार में ले जाने लगे। मनु ने बचपन में शास्त्रों की शिक्षा के साथ शस्त्रों की भी शिक्षा ली। 1842 में उनका विवाह झांसी के मराठा शासित राजा गंगाधर राव के साथ हुआ। विवाह के बाद मनु का नाम लक्ष्मीबाई रखा गया। 1851 में रानी लक्ष्मीबाई ने एक पुत्र को जन्म दिया, जिसकी चार माह में ही मौत हो गई।
Tags: public,

More Related Blogs

Article Picture
khushboo mehar 9 months ago 3 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 3 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 2 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 2 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 1 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 4 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 1 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 1 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 7 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 4 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 13 Views
Article Picture
khushboo mehar 11 months ago 26 Views
Back To Top