जबलपुर में अगरबत्ती कारोबारी के यहां से पकड़ा गया 4121 करोड़ का हवाला रैकेट

आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग ने जबलपुर में 4121 करोड़ रुपए के हवाला रैकेट का भंडाफोड़ किया है. इसे जबलपुर का रहने वाला अगरबत्ती और लोहा कारोबारी खूबचंद लालवानी पूरे देश में चला रहा था

Posted 5 months ago in Other.

User Image
Deepak lovewanshi
168 Friends
6 Views
5 Unique Visitors
विभाग को प्रमाण के तौर पर ऐसी सैकड़ों इंट्रीज मिली हैं, जिसमें 3-4 लाख रुपए से लेकर 20 करोड़ रुपए तक भेजे गए हैं.

जबलपुरः आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग ने जबलपुर में 4121 करोड़ रुपए के हवाला रैकेट का भंडाफोड़ किया है. इसे जबलपुर का रहने वाला अगरबत्ती और लोहा कारोबारी खूबचंद लालवानी पूरे देश में चला रहा था. वह 1 लाख रुपए भेजने के एवज में केवल 300 रुपए कमीशन लेता था. पिछले छह साल में उसने 6.50 करोड़ रुपए का कमीशन कमाया. विभाग को प्रमाण के तौर पर ऐसी सैकड़ों इंट्रीज मिली हैं, जिसमें 3-4 लाख रुपए से लेकर 20 करोड़ रुपए तक भेजे गए हैं. बता दें यह मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा हवाला रैकेट है. विधानसभा चुनाव के दौरान भी जबलपुर के एक खिलौना व्यापारी के यहां से 1500 करोड़ रुपए का हवाला रैकेट पकड़ा गया था.
आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग को चार दिन पहले लालवानी के घर से 67 लाख रुपए मिले थे. इसके बाद लालवानी के कार्यालय में पड़ताल शुरू हुई. वहां लैपटॉप और रजिस्टर से भारी तादाद में नकद पैसा भेजे जाने के प्रमाण सामने आए. इसके बाद सर्वे को छापे में बदल दिया गया. लालवानी ने जो पैसा भेजे जाने का उल्लेख कागजों और लैपटॉप में दी गई लिस्ट में दिया था. उसका बकायदा टेली में हिसाब रखा गया था. उसके यहां काम करने वाले कर्मचारी से इन इंट्रीज के बारे में पूछताछ हुई जिसमें उसने बाहर पैसा भेजने और कमीशन लेने की बात कबूली. कर्मचारियों ने बताया कि एक लाख पर 300 रुपए कमीशन लेकर 6.25 करोड़ रुपए कमाए गए.
पूछताछ जारी
अधिकारियों को आशंका है कि सारा लेनदेन नकद में हुआ है, जिससे कई लेनदेन लोकसभा चुनाव की आचार संहिता में किया गया. आशंका है कि नेताओं ने चुनाव में पैसा भेजने के लिए लालवानी के रैकेट का इस्तेमाल किया. इसकी जांच अलग से की जा रही है. जबलपुर के हवाला कारोबारी से 4000 करोड़ रुपए से अधिक पैसा हवाला के जरिए बाहर भेजे जाने के प्रमाण मिले हैं. बता दें पुलिस और आयकर विभाग ने अब तक की कार्रवाई में 65 लाख की रकम जब्त की है. वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रैकेट में अब तक 2.65 करोड़ रुपये सरेंडर किए जा चुके हैं.विभाग को प्रमाण के तौर पर ऐसी सैकड़ों इंट्रीज मिली हैं, जिसमें 3-4 लाख रुपए से लेकर 20 करोड़ रुपए तक भेजे गए हैं.
अधिकारियों को आशंका है कि सारा लेनदेन नकद में हुआ है, जिससे कई लेनदेन लोकसभा चुनाव की आचार संहिता में किया गया

More Related Blogs

Back To Top