जानिए क्या हैं आगरा के जहांगीर महल की मुख्य बातें, क्यों है ये खास

दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आगरा एक ऐतिहासिक पर्यटन स्थल है। ये शहर जहां उर्दू के मशहूर शायर ‘मिर्जा गालिब’ की जन्मस्थली रहा है। वहीं मशहूर संगीतज्ञ उस्ताद फैयाज खान भी आगरा घराने के थे। मुगलकाल में आगरा मुगल साम्राज्य की राजधानी बन कर प्रसिद्ध हुआ।

Posted 4 months ago in Places and Regions.

User Image
Raj Singh
113 Friends
1 Views
1 Unique Visitors
दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आगरा एक ऐतिहासिक पर्यटन स्थल है। ये शहर जहां उर्दू के मशहूर शायर ‘मिर्जा गालिब’ की जन्मस्थली रहा है। वहीं मशहूर संगीतज्ञ उस्ताद फैयाज खान भी आगरा घराने के थे। मुगलकाल में आगरा मुगल साम्राज्य की राजधानी बन कर प्रसिद्ध हुआ।

1526 में यह मुगल साम्राज्य के संस्थापक बाबर के हाथों में आया था। 1571 में अकबर ने आगरा में एक किले का निर्माण करवाया था। यों तो इस का क्रमबद्ध इतिहास लोदी काल से ही शुरू होता है। पर इस के वर्तमान रूप को सजानेसंवारने का श्रेय मुगलों को जाता है। आज हम बात कर रहे हैं जहांगीर महल की अकबर द्वारा निर्मित ये महल अपनी खुबसुरती के लिए जाना जाता है आइये जानते हऐं इसके बारे में

जहांगीर महल

आगरा के किले में स्थित जहांगीर महल का निर्माण 1570 मुगल बादशाह अकबर ने महिलाओं के रहने के लिए करवाया था। इसमें अकबर की राजपूत बीवियां रहतीं थीं। आगरा के किले में अमर सिंह गेट से अंदर प्रवेश करने पर दाईं ओर जहांगीर महल स्थित है। इसका निर्माण लाल पत्थर से किया गया है और इसमें हिन्दू और इस्लामिक वास्तुशिल्प का बेहतरीन मिश्रण देखने का मिलता है।



जहांगीर महल

महल का एक दरवाजा अंदर के प्रांगण तक जाता है, जो कि बड़े-बड़े हॉल से घिरा हुआ है। इसमें पर्सियन शैली की उत्कृष्ट नक्काशी की गई है। इस महल की अनूठी खासियत इसमें इस्तेमाल किया गया सजावटी पत्थर है। बाद में जहांगीर द्वारा इस महल में कुछ संशोधन किया गया। इसका प्रमाण महल के इंटीरीयर और एक्सटीरीयर को देखने पर मिल जाता है। जहांगीर ने यहां एक वृत्ताकार टैंक भी बनवाया, जिसे जहांगीर हौज के नाम से जाना जाता है। मुगलकाल के दौरान इस टैंक को खुशबूदार पानी से भरा जाता था।

जहांगीर महल की वास्तुकला



जहांगीर महल की वास्तुकला

आगरा के किले में सबसे असाधारण इमारतों में से एक, जहांगीर महल मूल रूप से अकबर की राजपूत पत्नियों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला एक महल था। महल में एक प्रवेश द्वार है जो एक आंतरिक आंगन से जुड़ता है जो पत्थरों, स्तंभों और पारस्पायों पर सजे हुए भरे हॉल के बीच सजे हुए हैं।

आंगन हॉल गुजरात-मालवा-राजस्थान वास्तुकला शैली में सजे हुए हैं। जहांगीर महल मुगल वास्तुकला के शीर्ष उदाहरणों में से एक है, इसमें  जटिल हिंदू और इस्लामी रूपांकनों के साथ सजाया गया है। किले में अब कुछ इमारतें ही सही हैं ज्यादातर किले शाहजहां और बाद में ब्रिटिश आक्रमणकारियों द्वारा नष्ट किया गए था।

जहांगीर हौज



जहांगीर हौज

जहाँगीरी महल आगरा के क़िले में बनी हुई एक महत्त्वपूर्ण इमारत है। ग्वालियर के राजा मानसिंह के महल की नकल कर ‘जहाँगीरी महल’ मुग़ल बादशाह अकबर का सर्वोत्कृष्ट निर्माण कार्य है। क़िले में ‘जहांगीर महल’ सबसे बड़ा आवासीय भवन है। इस भवन में हिन्दू और एशियाई वास्तुकला का बेहतरीन मिश्रण दृष्टिगोचर होता है।

ये पत्‍थरों से बना हुआ है और इसकी बाहरी सजावट बहुत ही सादगी वाली है। पत्‍थरों के बड़े कटोरे पर सजावटी पर्शियन पच्‍चीकारी की गई है, जिसे जहांगीर हौज के नाम से जाना जाता है  जो संभवत: सुगंधित गुलाबजल को रखने के लिए बनाया गया था।

More Related Blogs

Article Picture
Raj Singh 27 days ago 0 Views
Article Picture
Raj Singh 29 days ago 0 Views
Article Picture
Raj Singh 1 month ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 1 month ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 1 month ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 1 month ago 2 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 2 Views
Back To Top