दुनिया में कहीं नहीं है भेड़ाघाट जैसे जलप्रपात का सौंदर्य

देवशंकर अवस्‍थी, जबलपुर (मध्‍यप्रदेश)। दुनिया में जलप्रपातों की कमी नहीं लेकिन ऐसा जलप्रपात कहीं नहीं है, 

Posted 6 months ago in Other.

User Image
Raj Singh
113 Friends
3 Views
5 Unique Visitors
दुनिया में जलप्रपातों की कमी नहीं लेकिन ऐसा जलप्रपात कहीं नहीं है, जहां जलप्रपात के अलावा संगमरमरी पहाड़ों का सीना चीरकर नदी निकली हो। प्रकृति का यह अनमोल उपहार केवल भेड़ाघाट को मिला है। वैसे तो नर्मदा नदी सौंदर्य की नदी है लेकिन तिलवाराघाट से सरस्वतीघाट तक मानो प्रकृति ने सुंदरता का खजाना उड़ेल दिया हो। भेड़ाघाट और लम्हेटाघाट की चट्टानीवादियों का जितना महत्व भूगर्भशास्यिों, पुरातत्ववेत्ताओं के बीच है, जितना धार्मिक भी है।

पुरातत्तवेत्ताओं के अनुसार संगमरमरी चट्टानों के बीच नर्मदा की तीव्रगामी जलराशि का कटाव करोड़ों वर्ष पुराना है। देश में योगिनी तंत्र साधना के यूं तो अनेक मंदिर हैं लेकिन भेड़ाघाट का चौसठ योगिनी मंदिर देश में सबसे बड़ा है। नर्मदा की लंबाई करीब 13 सौ किमी है, जिसमें एक हजार किमी में नर्मदा का पाट काफी चौड़ाई वाला है लेकिन भेड़ाघाट में धुआंधार से लेकर पंचवटीघाट तक करीब डेढ़ किमी के क्षेत्र में नर्मदा का पाट अपने वास्तविक आकार से चौथाई से भी कम हो जाता है।

भेड़ाघाट का संगमरमर न केवल सफेद बल्कि गुलाबी, स्लेटी, नीला और आसमानी रंग का भी है। भेड़ाघाट का नामकरण भृगु ऋ षि की तपोस्थली होने के कारण भी माना जाता है। दूसरा, बुंदेली में संगम को भेड़ा कहा जाता है। सरस्वतीघाट में नर्मदा और वैनगंगा का भेड़ा अर्थात्‌ संगम हुआ है। पुराणों में भी भेड़ाघाट का महत्व विस्तार से बताया गया है। महाभारत में युधिष्ठिर के भ्रमण वृतांत में भेड़ाघाट का वर्णन है।

चौसठ योगिनी मंदिर

भेड़ाघाट में चौसठ योगिनी के चक्राकार मंदिर की स्थापना एकदम असाधारण है। यह वस्तुतः 81 योगनियों का मंदिर है लेकिन चौसठ योगिनी के नाम से चर्चित है। इसका निर्माण ग्यारहवीं शताब्दी में कलचुरिकाल में हुई थी। दुर्गा सप्तशती में योगनियों को शक्ति के रूप में प्रतिष्ठित किया गया है। देशभर में 32 से अधिक योगनियों के मंदिर हैं, जिनमें चौसठ योगिनी मठ का विशेष स्थान है। इसे गोलकी मठ भी कहा जाता है।

More Related Blogs

Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 4 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 4 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 4 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 4 months ago 2 Views
Back To Top