बृहस्पति (ग्रह)

बृहस्पति सूर्य से पांचवाँ और हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है। 

Posted 9 months ago in Other.

User Image
Arun Yadav
122 Friends
2 Views
72 Unique Visitors
बृहस्पति सूर्य से पांचवाँ और हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है। यह एक गैस दानव है जिसका द्रव्यमान सूर्य के हजारवें भाग के बराबर तथा सौरमंडल में मौजूद अन्य सात ग्रहों के कुल द्रव्यमान का ढाई गुना है। बृहस्पति को शनि, अरुण और वरुण के साथ एक गैसीय ग्रह के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इन चारों ग्रहों को बाहरी ग्रहों के रूप में जाना जाता है।

बृहस्पति  

कैसिनी से ली गई बृहस्पति की छवि, काला धब्बा युरोपा की परछाई है।

उपनाम

विशेषणबाहरी ग्रह

कक्षीय विशेषताएँ[1][2]

युग J2000उपसौर८१,६५,२०,८०० कि.मी.
(५.४५८१०४ ख.ई.)अपसौर७४,०५,७३,६०० कि.मी.
(४.९५०४२९ ख.ई.)अर्ध मुख्य अक्ष७७,८५,४७,२०० कि.मी.
(५.२०४२६७ ख.ई.)विकेन्द्रता०.०४८७७५परिक्रमण काल४,३३२.५९ दिन
११.८६१८ वर्ष
१०,४७५.८ बृहस्पति सौर दिवस[3]संयुति काल३९८.८८ दिन[4][a]औसत परिक्रमण गति१३.०७ कि.मी./से.[4]औसत अनियमितता१८.८१८°झुकाव१.३०५° क्रान्तिवृत्तसे
६.०९° सूर्यकी भूमध्यरेखा से
०.३२° अविकारी सतह से[5]आरोही ताख का रेखांश१००.४९२°उपमन्द कोणांक२७५.०६६°उपग्रह७९

भौतिक विशेषताएँ

माध्य त्रिज्या६९,९११ ± ६ कि.मी.[6][7] 
विषुवतीय त्रिज्या७१,४९२ ± ४ कि.मी.[6][7] 
११.२०९ पृथ्वीध्रुवीय त्रिज्या६६,८५४ ± १० कि.मी.[6][7] 
१०.५१७ पृथ्वीसपाटता०.०६४८७ ± ०.०००१५तल-क्षेत्रफल६.१४१९×१०१० कि.मी.२[7][8]
१२१.९ पृथ्वीआयतन१.४३१३×१०१५ ;कि.मी.३[4][7]
१३२१.३ पृथ्वीद्रव्यमान१.८९८६×१०२७ कि.ग्रा.[4] 
३१७.८ पृथ्वी
१/१०४७ सूर्य[9]माध्य घनत्व१.३२६ ग्राम/से.मी.३[4][7]विषुवतीय सतह गुरुत्वाकर्षण२४.७९ मीटर/सेकण्ड२[4][7]
२.५२८ gपलायन वेग५९.५ कि.मी./सेकण्ड[4][7]नाक्षत्र घूर्णन 
काल९.९२५ घंटा[10] (9 घंटा 55 मीनट 30 सेकण्ड)विषुवतीय घूर्णन वेग१२.६ कि.मी./सेकण्ड
४५,३०० कि.मी./घंटाअक्षीय नमन३.१३°[4]उत्तरी ध्रुव दायां अधिरोहण२६८.०५७°
१७ घंटा ५२ मीनट १४ सेकण्ड[6]उत्तरी ध्रुवअवनमन६४.४९६°[6]अल्बेडो०.३४३ (Bond)
०.५२ (geom.)[4]सतह का तापमान
   1 bar level
   0.1 barन्यूनमाध्यअधि१६५ K[4]११२ K[4]सापेक्ष कांतिमान-१.६ से -२.९४[4]कोणीय व्यास२९.८" — ५०.१"[4]

वायु-मंडल[4]

सतह पर दाब२०–२०० किलो पास्कल[11](बादल परत)स्केल हाईट२७ कि.मी.संघटन८९.८±२.०%हाइड्रोजन (H2)१०.२±२.०0%हीलियम~०.३%मीथेन~०.०२६%अमोनिया~०.००३%हाइड्रोजन ड्यूटेराइड(HD)०.०००६%इथेन०.०००४%जलबर्फ:अमोनियाजलअमोनियम हाइड्रोसल्फाइड(NH4SH)

यह ग्रह प्राचीन काल से ही खगोलविदों द्वारा जाना जाता रहा है[12] तथा यह अनेकों संस्कृतियों की पौराणिक कथाओं और धार्मिक विश्वासों के साथ जुड़ा हुआ था। रोमन सभ्यताने अपने देवता जुपिटर के नाम पर इसका नाम रखा था।[13]इसे जब पृथ्वी से देखा गया, बृहस्पति -2.94 के सापेक्ष कांतिमान तक पहुंच सकता है, छाया डालने लायक पर्याप्त उज्जवल,[14] जो इसे चन्द्रमा और शुक्र के बाद आसमान की औसत तृतीय सर्वाधिक चमकीली वस्तु बनाता है। (मंगल ग्रह अपनी कक्षा के कुछ बिंदुओं पर बृहस्पति की चमक से मेल खाता है)।

बृहस्पति एक चौथाई हीलियम द्रव्यमान के साथ मुख्य रूप से हाइड्रोजन से बना हुआ है और इसका भारी तत्वों से युक्त एक चट्टानी कोर हो सकता है।[15]अपने तेज घूर्णन के कारण बृहस्पति का आकार एक चपटा उपगोल (भूमध्य रेखा के पास चारों ओर एक मामूली लेकिन ध्यान देने योग्य उभार लिए हुए) है। इसके बाहरी वातावरण में विभिन्न अक्षांशों पर कई पृथक दृश्य पट्टियां नजर आती है जो अपनी सीमाओं के साथ भिन्न भिन्न वातावरण के परिणामस्वरूप बनती है। बृहस्पति के विश्मयकारी 'महान लाल धब्बा' (Great Red Spot), जो कि एक विशाल तूफ़ान है, के अस्तित्व को १७ वीं सदी के बाद तब से ही जान लिया गया था जब इसे पहली बार दूरबीन से देखा गया था। यह ग्रह एक शक्तिशाली चुम्बकीय क्षेत्र और एक धुंधले ग्रहीय वलय प्रणाली से घिरा हुआ है। बृहस्पति के कम से कम ७९(२०१८ तक) चन्द्रमाहै। इनमें वो चार सबसे बड़े चन्द्रमा भी शामिल है जिसे गेलीलियन चन्द्रमा कहा जाता है जिसे सन् १६१० में पहली बार गैलीलियो गैलिली द्वारा खोजा गया था। गैनिमीड सबसे बड़ा चन्द्रमा है जिसका व्यास बुध ग्रह से भी ज्यादा है। यहाँ चन्द्रमा का तात्पर्य उपग्रह से है।

बृहस्पति का अनेक अवसरों पर रोबोटिक अंतरिक्ष यान द्वारा, विशेष रूप से पहले पायोनियर और वॉयजर मिशन के दौरान और बाद में गैलिलियो यान के द्वारा, अन्वेषण किया जाता रहा है। फरवरी २००७ में न्यू होराएज़न्ज़ प्लूटो सहित बृहस्पति की यात्रा करने वाला अंतिम अंतरिक्ष यान था। इस यान की गति बृहस्पति के गुरुत्वाकर्षण का इस्तेमाल कर बढाई गई थी। इस बाहरी ग्रहीय प्रणाली के भविष्य के अन्वेषण के लिए संभवतः अगला लक्ष्य यूरोपा चंद्रमा पर बर्फ से ढके हुए तरल सागर शामिल हैं।

More Related Blogs

Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 5 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 6 months ago 3 Views
Article Picture
Arun Yadav 6 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 6 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 6 months ago 3 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 10 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 11 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 4 Views
Article Picture
Arun Yadav 7 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 8 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 3 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 5 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 1 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 17 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 5 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 2 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 3 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 6 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 13 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 30 Views
Article Picture
Arun Yadav 9 months ago 8 Views