भीख मांग रहा था सेना का जवान, गौतम गंभीर ने देखते ही लिया यह फैसला

भारतीय सेना के लिए दिल में विशेष जगह रखनेवाले भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर इस बार एक पूर्व जवान की मदद के लिए आगे आए हैं। गंभीर की वजह से अब उस शख्स को सेना से मदद मिल सकती है जो काफी वक्त से अटकी हुई थ

Posted 8 months ago in Other.

User Image
muni gaur
8 Friends
1 Views
1 Unique Visitors
भारतीय सेना के लिए दिल में विशेष जगह रखनेवाले भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर इस बार एक पूर्व जवान की मदद के लिए आगे आए हैं। गंभीर की वजह से अब उस शख्स को सेना से मदद मिल सकती है जो काफी वक्त से अटकी हुई थी।


Third party image reference
शनिवार को गंभीर ने एक शख्स की फोटो ट्वीट करके बताया कि वह पूर्व जवान हैं और मदद न मिलने के चलते उन्हें भीख मांगने पर मजबूर होना पड़ा। इस ट्वीट के बाद रक्षा मंत्रालय ने शख्स की मदद का भरोसा दिया है।


Third party image reference
गंभीर ने शख्स की फोटो पोस्ट करते हुए साथ में लिखा, 'यह हैं पीताम्बरन जिनकी आईडी देखकर पता लगाया जा सकता है कि उन्होंने 1965 और 1971 में भारतीय सेना में सेवा की। उनका कहना है कि तकनीकी वजहों से सेना से जो उन्हें मदद मिलनी थी वह अटक गई। मैं इनकी मदद की गुहार लगाता हूं। यह शख्स फिलहाल कनॉट प्लेस के ए ब्लॉक पर भीख मांग रहे हैं।'


Third party image reference
गंभीर के इस ट्वीट का रक्षा मंत्रालय से जवाब आया। मदद का भरोसा देते हुए रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा गया, 'हम आपकी तरफ से इस बात को उठाने की तारीफ करते हैं और भरोसा देते हैं कि जल्द से जल्द हरसंभव ऐक्शन लिया जाएगा।' इस जवाब के बाद गंभीर ने भी शुक्रिया कहा।भारतीय सेना के लिए दिल में विशेष जगह रखनेवाले भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर इस बार एक पूर्व जवान की मदद के लिए आगे आए हैं। गंभीर की वजह से अब उस शख्स को सेना से मदद मिल सकती है जो काफी वक्त से अटकी हुई थी।


Third party image reference
शनिवार को गंभीर ने एक शख्स की फोटो ट्वीट करके बताया कि वह पूर्व जवान हैं और मदद न मिलने के चलते उन्हें भीख मांगने पर मजबूर होना पड़ा। इस ट्वीट के बाद रक्षा मंत्रालय ने शख्स की मदद का भरोसा दिया है।


Third party image reference
गंभीर ने शख्स की फोटो पोस्ट करते हुए साथ में लिखा, 'यह हैं पीताम्बरन जिनकी आईडी देखकर पता लगाया जा सकता है कि उन्होंने 1965 और 1971 में भारतीय सेना में सेवा की। उनका कहना है कि तकनीकी वजहों से सेना से जो उन्हें मदद मिलनी थी वह अटक गई। मैं इनकी मदद की गुहार लगाता हूं। यह शख्स फिलहाल कनॉट प्लेस के ए ब्लॉक पर भीख मांग रहे हैं।'


Third party image reference
गंभीर के इस ट्वीट का रक्षा मंत्रालय से जवाब आया। मदद का भरोसा देते हुए रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा गया, 'हम आपकी तरफ से इस बात को उठाने की तारीफ करते हैं और भरोसा देते हैं कि जल्द से जल्द हरसंभव ऐक्शन लिया जाएगा।' इस जवाब के बाद गंभीर ने भी शुक्रिया कहा।

More Related Blogs

Back To Top