मध्यप्रदेश में, मायावती और 5 प्रतिशत स्विंग: प्रणय रॉय का विश्लेषण

कांग्रेस, जो लगातार तीन पदों के लिए राज्य में सत्ता में बीजेपी को बेदखल करने की मांग कर रही है - वे जो भी दावा करत

Posted 9 months ago in News and Politics.

User Image
vinod borasi
56 Friends
1 Views
1 Unique Visitors
नई दिल्ली:  विधानसभा चुनाव के इस दौर में मध्यप्रदेश में चुनाव सबसे महत्वपूर्ण होने की उम्मीद है। बीजेपी गढ़ भी एक हार्टलैंड राज्य है, जहां आंकड़े बताते हैं कि विधानसभा चुनाव में जीत लोकसभा चुनावों में बढ़ती वापसी की ओर ले जाती है। कांग्रेस, जो लगातार तीन पदों के लिए राज्य में सत्ता में बीजेपी को बेदखल करने की मांग कर रही है - वे जो भी दावा करते हैं उनका उपयोग करने के लिए कई कारकों द्वारा उच्च विरोधी सत्ता उत्पन्न होती है। पार्टी, लोग कहते हैं, सरकार की नौकरियों को उत्पन्न करने में विफलता, किसानों की स्थिति में सुधार और बेहतर कानून व्यवस्था प्रदान करने पर असंतोष है। बीजेपी का दावा है कि उन्हें एक और जनादेश मिलेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एनडीटीवी को बताया है कि पिछले कुछ वर्षों में राज्य ने 10 फीसदी की वृद्धि दर्ज की है और प्रति पूंजीगत आय में छः गुना वृद्धि की है। लेकिन मायावती के साथ साझेदारी बनाने में कांग्रेस विफलता पार्टी के नतीजे को प्रभावित कर सकती है। आंकड़ों से पता चलता है कि यदि 2013 के विधानसभा चुनावों में दोनों पक्ष बंधे हैं, तो उनकी संयुक्त ताकत 41 और सीटें हासिल कर ली होगी।   ताज़ा खबरलाइव टीवीइंडियाविश्वसमाचार बीपतकनीक सम्बन्धी समाचाररायवीडियोलीक से हटकरशहरोंचलचित्ररुझानशीर्ष तस्वीरेंसमाचार अलर्ट विज्ञापन होमऑल इंडिया मध्यप्रदेश में, मायावती और 5 प्रतिशत स्विंग: प्रणय रॉय का विश्लेषण अखिल भारतीय एनडीटीवी समाचार डेस्क कांग्रेस, जो लगातार तीन पदों के लिए राज्य में सत्ता में बीजेपी को बेदखल करने की मांग कर रही है - वे जो भी दावा करते हैं उनका उपयोग करने के लिए कई कारकों द्वारा उच्च विरोधी सत्ता उत्पन्न होती है। अपडेटेडः 23 नवंबर, 2018 02:07 IST  नई दिल्ली:  मध्यप्रदेश में चुनावविधानसभा चुनाव के इस दौर सबसे महत्वपूर्ण होने की उम्मीद है। बीजेपी गढ़ भी एक हार्टलैंड राज्य है, जहां आंकड़े बताते हैं कि विधानसभा चुनाव में जीत लोकसभा चुनावों में बढ़ती वापसी की ओर ले जाती है। कांग्रेस, जो लगातार तीन पदों के लिए राज्य में सत्ता में बीजेपी को बेदखल करने की मांग कर रही है - वे जो भी दावा करते हैं उनका उपयोग करने के लिए कई कारकों द्वारा उच्च विरोधी सत्ता उत्पन्न होती है। पार्टी, लोग कहते हैं, सरकार की नौकरियों को उत्पन्न करने में विफलता, किसानों की स्थिति में सुधार और बेहतर कानून व्यवस्था प्रदान करने पर असंतोष है। बीजेपी का दावा है कि उन्हें एक और जनादेश मिलेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एनडीटीवी को बताया है कि पिछले कुछ वर्षों में राज्य ने 10 फीसदी की वृद्धि दर्ज की है और प्रति पूंजीगत आय में छः गुना वृद्धि की है। लेकिन मायावती के साथ साझेदारी बनाने में कांग्रेस विफलता पार्टी के नतीजे को प्रभावित कर सकती है। आंकड़ों से पता चलता है कि यदि 2013 के विधानसभा चुनावों में दोनों पक्ष बंधे हैं, तो उनकी संयुक्त ताकत 41 और सीटें हासिल कर ली होगी।  लगभग 20 वर्षों तक, मध्य प्रदेश में कुल वोटों में बीएसपी के 6 से 9 प्रतिशत के बीच है।  इससे स्विंग कारक की मदद मिलेगी। 2013 के चुनावों से आंकड़े बताते हैं कि राज्य में चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस को न्यूनतम 5 फीसदी स्विंग की जरूरत है। 
Tags: raj niti,

More Related Blogs

Article Picture
vinod borasi 4 months ago 14 Views
Article Picture
vinod borasi 4 months ago 10 Views
Article Picture
vinod borasi 5 months ago 13 Views
Back To Top