मानव दिमाग कम्प्यूटर से भी ज्यादा तेज होता है पर क्या आपको पता है कि हमारे दिमाग से जुडी कुछ ऐसी बात

मानव दिमाग कम्प्यूटर से भी ज्यादा तेज होता है पर क्या आपको पता है कि हमारे दिमाग से जुडी कुछ ऐसी बातें भी हैं, जिन पर विश्वास करना बहुत मुश्किल होता है। आज हम आपको मानव दिमाग की 7 ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके होश उड़ा देंगी। इन बातों के बारे में आपको बिल्कुल भी नहीं पता होगा।

Posted 5 months ago in Other.

User Image
Ravi Pathariya
35 Friends
5 Views
22 Unique Visitors
मानव दिमाग कम्प्यूटर से भी ज्यादा तेज होता है पर क्या आपको पता है कि हमारे दिमाग से जुडी कुछ ऐसी बातें भी हैं, जिन पर विश्वास करना बहुत मुश्किल होता है। आज हम आपको मानव दिमाग की 7 ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके होश उड़ा देंगी। इन बातों के बारे में आपको बिल्कुल भी नहीं पता होगा।

7. हम हंसते क्यों हैं?


Third party image reference
क्या आप जानते हैं कि मनुष्य हंसता क्यों है? सिर्फ इंसानों को ही यह क्षमता प्राप्त है, पर हम ऐसा क्यों करते हैं? इसके बारे में बहुत-सी बातें बताई जाती हैं। मगर सच यह है कि आज तक इसका कोई ठोस सबूत नहीं मिला है कि हम हँसते क्यों हैं? जिसके दिमाग में ज्यादा IQ होता है, वो उतने ज्यादा सपने देखता है और वो उतना ही ज्यादा होशियार होता है। अल्बर्ट आइंस्टीन के दिमाग में सबसे ज्यादा IQ पाया गया था। इसके साथ ही नॉर्थ कोरिया के किम जोंग उन को भी सबसे ज्यादा IQ होने वाले लोगों में गिना जाता है। उन्होंने 2 साल की उम्र में ही चार तरह की भाषाएं सिख ली थीं।

6. सपनों को दे सकते हैं मनचाहा मोड़


Third party image reference
हम सपनों को वो मोड़ भी दे सकते हैं, जो हम चाहते हैं। आप ल्युसिड ड्रीम के बारे में तो जानते ही होंगे। यह सपने देखने का वो तरीका है, जिसमें इंसान पूरी तरह नींद में नहीं होता है। उस वक्त इंसान ऐसा सपना देख रहा होता है कि उसे पता होता है कि वो सपना देख रहा है और वो इस वक्त सपने में है। फिर सपने को वो जैसा चाहे, वैसा मोड़ दे सकता है, मतलब सपने में कोई भी काम कर सकता है।

5. औरतें कर सकती हैं पुरुषों से ज्यादा काम


Third party image reference
पुरुषों का दिमाग औरतों के दिमाग की तुलना में 10 प्रतिशत ज्यादा बड़ा होता है। फिर भी महिलाएं पुरुषों से ज्यादा देर तक काम कर सकती हैं, क्योंकि छोटा होने के बावजूद भी उनके दिमाग में पुरुषों के दिमाग से ज्यादा रक्त कोशिकायें होती हैं और कनेक्टर्स भी ज्यादा होते हैं। इस वजह से औरतें पुरुषों से ज्यादा टाइम तक और अधिक बेहतर काम कर पाती हैं। औरतों में भावात्मक पहलु भी ज्यादा काम करता है।

4. दिमाग के हिस्से


Third party image reference
आपको बता दें कि हमारे दिमाग के 2 हिस्से होते हैं। दिमाग का दांया और बांया हिस्सा अलग-अलग तरह से काम करता है। दोनों में काफी अंतर होता है। दिमाग का बांया हिस्सा हमें हर चीज प्रैक्टिकल रूप से काम करने में मदद करता है, जबकि दांया हिस्सा हमारी रचनात्मक शक्ति को पैदा करता है। इसके अलावा सबसे बड़ी बात यह है कि अगर आप अपने दिमाग का एक चौथाई हिस्सा भी खो दें, तो भी आप जिंदा रहेंगे।

3. दिमाग सालों तक जिंदा रह सकता है


Third party image reference
जब अल्बर्ट आइंस्टीन की 1955 में मृत्यु हो गई थी, तो डॉक्टर थॉमस हार्वे ने उनकी मृत्यु के साढ़े सात घंटे ब्रैनेक्तोमी की और उनके दिमाग को निकाल लिया था। साल 1978 में एक जर्नलिस्ट स्टेसी लेवी ने जांंच कर बताया कि इतने सालों के बाद भी उनके दिमाग का कुछ हिस्सा जिंदा था और एकदम ठीक भी था।

2. दिमाग रखता है लाइट जलाने की ताकत


Third party image reference
हमारे दिमाग में एक लाख से ज्यादा रक्त वाहनिकाएं होती हैं। मानव शरीर की 17 प्रतिशत उर्जा का इस्तेमाल करके और 20 प्रतिशत ऑक्सीजन को इस्तेमाल करके दिमाग 10 से 23 प्रतिशत पॉवर बनाता है, जिससे लाइट जल सकती है। हमारे दिमाग में इतनी क्षमता है कि हम पूरे एनसाइक्लोपीडिया ब्रितामिका को पांच गुना बढ़ जाने के बाद भी रट्ट सकते हैं।

1. दिमाग को दर्द नहीं होता


Third party image reference
दिमाग को दर्द नहीं होता है। जी हां, असल में दिमाग में दर्द को महसूस करने के लिए कोई नर्व रिसेप्टर नहीं होते। इसलिए सर्जन patient के दिमाग का ऑपरेशन तब भी कर सकते है जब मरीज होश में होता हैं।

यह लेख पत्रकारिता सामग्री नहीं है। इसे वीमीडिया लेखक द्वारा कॉपीराइट किया गया है और किसी भी तरह से यह UC News के विचारों को नहीं दर्शाता है।
Tags: Look chup,

More Related Blogs

Back To Top