मुस्लिम युवक ने शादी के कार्ड पर लिखवाया कुछ ऐसा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

मुस्लिम युवक ने शादी के कार्ड पर लिखवाया कुछ ऐसा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Posted 5 months ago in Natural.

User Image
vishal Rajput
21 Friends
1 Views
13 Unique Visitors
शादी के कार्ड पर इस तरह के शब्दो का इस्तेमाल करना एक मुस्लिम युवक को काफी महंगा पड़ गया. जिसका नाम फ़िरोज़ है, जब ये कार्ड वायरल हुआ तो पुलिस तक भी ये खबर पहुंची, पुलिस ने उसे घर से गिरफ्तार कर लिया. साथ ही पुलिस ने इसे आचार संहिता के उल्लंघन का हवाला देते हुए कठोर कार्रवाई करने की बात कही है।






शादी का कार्ड कही भी देते हुए फ़िरोज़ विवेक को वोट देने की अपील कर रहे हैं. जब यह मामला चर्चा में आया, तो चुनाव अधिकारी ने इसके बारे में जांच शुरू कर दी. जब असली बात सामने आई, तो आचार संहिता के उल्लंघन की व्याख्या करते हुए युवक को गिरफ्तार कर लिया गया।







फिरोज रिटायर्ड पोस्टमास्टर अलाउद्दीन शेख का बेटा है. पुलिस अधिकारी शान मोहम्मद शेख ने एसडीएम और सहायक चुनाव अधिकारी विशाल तानपुरे के निर्देश पर परनेर पुलिस स्टेशन में फिरोज के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है. पुलिस ने फिरोज को गिरफ्तार किया लेकिन बाद में, अदालत ने उन्हें जमानत पर छोड़ दिया. निमंत्रण कार्ड समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया था. जिसके बाद ये पुलिस के कार्यवाही में आएं।




शादी के कार्ड पर इस तरह के शब्दो का इस्तेमाल करना एक मुस्लिम युवक को काफी महंगा पड़ गया. जिसका नाम फ़िरोज़ है, जब ये कार्ड वायरल हुआ तो पुलिस तक भी ये खबर पहुंची, पुलिस ने उसे घर से गिरफ्तार कर लिया. साथ ही पुलिस ने इसे आचार संहिता के उल्लंघन का हवाला देते हुए कठोर कार्रवाई करने की बात कही है।






शादी का कार्ड कही भी देते हुए फ़िरोज़ विवेक को वोट देने की अपील कर रहे हैं. जब यह मामला चर्चा में आया, तो चुनाव अधिकारी ने इसके बारे में जांच शुरू कर दी. जब असली बात सामने आई, तो आचार संहिता के उल्लंघन की व्याख्या करते हुए युवक को गिरफ्तार कर लिया गया।







फिरोज रिटायर्ड पोस्टमास्टर अलाउद्दीन शेख का बेटा है. पुलिस अधिकारी शान मोहम्मद शेख ने एसडीएम और सहायक चुनाव अधिकारी विशाल तानपुरे के निर्देश पर परनेर पुलिस स्टेशन में फिरोज के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है. पुलिस ने फिरोज को गिरफ्तार किया लेकिन बाद में, अदालत ने उन्हें जमानत पर छोड़ दिया. निमंत्रण कार्ड समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया था. जिसके बाद ये पुलिस के कार्यवाही में आएं।

More Related Blogs

Back To Top