वर्ल्ड कप में लागू होंगे ये 7 नियम, बल्लेबाज और गेंदबाज को होगी परेशानी

क्रिकेट विश्व कप का 12वां सीजन इंग्लैंड-वेल्स में 30 मई से शुरू होने जा रहा है। वर्ल्ड कप के इस टूर्नामेंट में 10 टीम भाग ले रही है। इस वर्ल्ड कप में सभी मजबूत टीम है।

Posted 6 months ago in Sport.

User Image
jayant shastri
17 Friends
2 Views
6 Unique Visitors
क्रिकेट विश्व कप का 12वां सीजन इंग्लैंड-वेल्स में 30 मई से शुरू होने जा रहा है। वर्ल्ड कप के इस टूर्नामेंट में 10 टीम भाग ले रही है। इस वर्ल्ड कप में सभी मजबूत टीम है। इस वर्ल्ड कप 7 नए नियम भी लागू हो रहे हैं। वैसे ये सारे नियम वनडे क्रिकेट में यूं तो लागू हो चुके हैं, पर वर्ल्ड कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में ये नियम पहली बार लागू होंगे। आईए जानते हैं उन 7 नियम के बारे में जो इस बार के वर्ल्ड कप में लागू होंगे।


Third party image reference
1. हेलमेट से आउट, पर हैंडल द बॉल नॉटआउट

बल्लेबाजी करते समय अगर गेंद बल्लेबाज के हेलमेट से लगकर उछला और किसी फील्डर ने कैच ले लिया तो बल्लेबाज को आउट करार दिया जाएगा। लेकिन हैंडल द बॉल की स्थिति में बल्लेबाज को नॉटआउट रहेगा।


Third party image reference
2. खराब व्यवहार करने पर मैच से बाहर

अक्सर आपने देखा होगा कि मैच के दौरान कोई खिलाड़ी खराब व्यवहार करता है। इसलिए अगर अंपायर को लगा कि किसी खिलाड़ी ने बेहद खराब व्यवहार किया है, तो वह उस खिलाड़ी को आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट की लेवल 4 की धारा 1.3 के तहत दोषी मानते हुए फौरन मैच से बाहर भेज सकता है।


Third party image reference
3. अंपायर्स कॉल पर रिव्यू खराब नहीं होगा

अगर बल्लेबाज या फील्डिंग टीम डीआरएस लेती है और अंपायर्स कॉल के कारण अंपायर का फैसला बरकरार रहता है, तो टीम का रिव्यू खराब नहीं होगा। यानि दोनों टीम बाद में दोबारा डीआरएस ले सकती है।


Third party image reference
4. गेंद दो बार बाउंस हुई तो नो बॉल

मैच के दौरान यदि गेंदबाज कोई गेंद फेंकता है और वह गेंद दो बाउंस हो जाती है और फिर बल्लेबाज के पास पहुँचती है तो ऐसी स्थिति में वह बॉल नो बॉल करार दिया जाएगा। यह नियम पहले नही था। उस नो बॉल पर बल्लेबाज को फ्री-हिट भी मिलेगा।


Third party image reference
5. बैट के ऑन द लाइन होने पर रनआउट

पहले रनआउट या स्टंपिंग के समय में बल्ला लाइन पर होने पर नॉटआउट होता था लेकिन अब ऑन द लाइन बल्ला होने पर आउट दे दिया जाएगा। अगर बल्ला या बल्लेबाज का पैर क्रीज के अंदर है और हवा में भी है, तो भी बल्लेबाज नॉटआउट रहेगा।


Third party image reference
6. बल्ले की चौड़ाई और मोटाई फिक्स होनी चाहिए

इस बार बल्ले का आकार निश्चित कर दिया गया है। बैट की चौड़ाई 108 मि.मी, मोटाई 67 मि.मी और कोनों पर 40 मि.मी से ज्यादा नहीं हो पाएगी। संदेह होने पर अंपायर बैट गेज (माप यंत्र) से बल्ले की चौड़ाई माप सकता है।


Third party image reference
7. लेग बाई और बाई के रन अलग से जुड़ेंगे

पहले यदि कोई गेंदबाज नो बॉल फेंकता था तो इस पर बाई या लेग बाई से बने रन नो बॉल में जुड़ते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। नोबॉल का रन अलग से और बाई-लेग बाई का रन अलग से जोड़ा जाएगा।

दोस्तों, आपको क्या लगता है। इनमे से कौन सा नियम वर्ल्ड कप में नही होना चाहिए। अपना जवाब कमेंट करके जरूर दे। क्रिकेट से जुड़ी सभी खबरों के लिए इस न्यूज़ को फॉलो करना ना भूलें।
Tags: Jayant,

More Related Blogs

Back To Top