सेना के हाथ मजबूत कर रही सरकार, गेम चेंजर साबित होंगे ये चार प्रोजेक्ट

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव चरम पर था। भारत ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर बदला लिया। रक्षा मंत्रालय अब तेजी से सेना और सुरक्षा बलों को आधुनिक हथियार मुहैया कराने पर काम कर रही है।

Posted 7 months ago in Economics and Trade.

User Image
Abhishek Dhanwal
65 Friends
5 Views
3 Unique Visitors
पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव चरम पर था। भारत ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर बदला लिया। रक्षा मंत्रालय अब तेजी से सेना और सुरक्षा बलों को आधुनिक हथियार मुहैया कराने पर काम कर रही है। सेना को अत्याधुनिक हथियार दिए जा रहे हैं, जिससे वे हर चुनौती का सामना कर सके। आधुनिकीकरण के इस प्रक्रिया में चार प्रोजेक्ट गेम चेंजर साबित होंगे।


तलवार क्लास के फ्रिगेट्स। फोटो- गूगल
प्रोजेक्ट 1- तलवार और सूर्या युद्धपोतों के लिए गोला बारूद की खरीद

रक्षा मंत्रालय ने 2355 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट को मंजूरी दी है। इससे तलवार और सूर्या क्लास के युद्धपोत के लिए मल्टीमोड ग्रेनेड एंड फायर कंट्रोल सिस्टम की खरीद होगी। इसके साथ ही इस प्रोजेक्ट से युद्धपोतों के लिए गोला-बारूद की खरीद भी होगी।

प्रोजेक्ट 2- भारत में बनेंगे 10 लाख ग्रेनेड

रक्षा मंत्रालय ने 10 लाख हैंड ग्रेनेड की खरीद की मंजूरी दी है। ये ग्रेनेड मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट के तहत आर्मी के लिए खरीदे जाएंगे। नए ग्रेनेड ऑर्डिनांस फैक्ट्री बोर्ड द्वारा बनाए गए ग्रेनेड HE-36 को रिप्लेस करेंगे। नए मल्टी मोड ग्रेनेड को डीआरडीओ ने विकसित किया है। इसे बड़े पैमाने पर बनाने के लिए एजेंसी का चयन हो चुका है। इस प्रोजेक्ट में 500 करोड़ रुपए से अधिक खर्च होंगे।

प्रोजेक्ट 3- स्पेशल फोर्स को मिलेंग नए हथियार

स्पेशल फोर्स के जवानों के लिए रक्षा मंत्रायल ने नए हथियार खरीदने की मंजूरी दी है। इसके लिए नए असॉल्ट राइफल, गोला-बारूद, पैराशूट और बहुत से दूसरे खास उपकरण अमेरिका से खरीदे जाएंगे। आर्मी पहले से ही अमेरिकी असॉल्ट राइफल M4A1 का इस्तेमाल कर रही है। सरकार स्पेशल फोर्स को और अधिक कार्बाइन्स से लैस करना चाहती है।


सिग सॉर राइफल। फोटो- गूगल
प्रोजेक्ट 4- सिग सॉर राइफल

फरवरी में रक्षा मंत्रायल ने अमेरिका से 72,400 सिग सॉर राइफल खरीदने का सौदा किया। 7.6 एमएम के इस असॉल्ट राइफल की खरीद के लिए फास्ट ट्रैक प्रक्रिया अपनाई गई है। 700 करोड़ रुपए का यह प्रोजेक्ट इनफेंटरी को आधुनिक बनाने के लिए है। भारतीय सेना को 66400 सिग सॉर राइफल मिलेंगे। एयरफोर्स को 4000 और नेवी को 2000 राइफल मिलेंगे।

खबर स्रोत- डिफेंस न्यूज डॉट इन

More Related Blogs

Article Picture
Abhishek Dhanwal 6 months ago 1 Views
Article Picture
Abhishek Dhanwal 6 months ago 2 Views
Back To Top