सोने के पहले सिक्के पर थी शिव जी की तस्वीर, 2300 साल पुराना है इति‍हास

कैसे शुरू हुआ सोने के सिक्कों का सफर, कब और कैसे बना पहला भारती सोने का सिक्का। आइए जानते हैं इस खास स्टोरी में.

Posted 6 months ago in Places and Regions.

User Image
Raj Singh
113 Friends
1 Views
13 Unique Visitors
यूं तो दिवाली पर तमाम लोग सोने के सिक्के खरीदते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि इन सोने के सिक्कों का सफर कैसे शुरू हुआ। भारत में पहला सोने का सिक्का कब और कैसे बना। तो तैयार हो जाइए, क्योंकि आज हम आपको सोने के सिक्कों के इतिहास की सैर कराने ले जा रहे हैं।वैसे गोल्ड के पहले सिक्के पर भगवान शिव की तस्वीर थी। उससे पहले आपको यह बताना भी जरूरी है कि अपने देश में पहली बार अशोक चक्र वाला सोने का सिक्का लॉन्च होने जा रहा है।   अगर इस दिवाली पर आप सोने के सिक्के खरीदने का मन बना रहे हैं तो आप अशोक चक्र वाला सोने का सिक्का खरीद सकते हैं। यह सिक्का दिवाली से पहले लॉन्च होने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन सिक्कों को 5 नंवबर को लॉन्च करने जा रहे हैं। अशोक चक्र वाले ये सिक्के 5 और 10 ग्राम में मिलेंगे।   इन सिक्कों को बनाने का काम सिक्युरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया को सौंपा गया है। 5 ग्राम के 20 हजार और 10 ग्राम के 30 हजार सिक्के बाजार में उपलब्ध कराए जाएंगे। बाजार मूल्य की तुलना में ये सिक्के सस्ते होंगे। इनका वितरण बैंकों की शाखाओं और डाक घरों के जरिए होगा।   अगली स्लाइड में जानिए सोने के सिक्कों का इतिहास...  




सोने के सिक्कों का इतिहास   यह तो हुई अशोक चक्र वाले सोने के सिक्कों की बात। आइए अब आपको बताते हैं कि पहली बार सोने के सिक्के कहां बने? यूं तो सबसे पहले सोने के सिक्के 640 बीसी में ग्रीक में बनाए गए थे। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि 100 एडी से पहले सोने के सिक्कों का चलन पूरी दुनिया में कही नहीं था। इससे पहले चांदी के सिक्के ही चलते थे।   अगली स्लाइड में पढ़िए कैसे बने भगवान शिव के सोने के सिक्के...

भगवान शिव के चित्र वाला था देश का सबसे पहला सोने का सिक्का   आज से करीब दो हजार साल से भी पहले अपने देश में सोने के सिक्कों की शुरुआत हुई। ईसा पूर्व की तीसरी सदी में कुषाण वंश के राजाओं ने देश का सबसे पहला सोने का सिक्का बनवाया। इन सिक्कों पर भगवान शिव की तस्वीर लगवाई। सम्राट कनिष्क के पिता वीमा कदफिस द्वारा बनवाए गए इस पहले सिक्के का वजन करीब 8 ग्राम था। इन सिक्कों के बाद भारत में सोने के सिक्कों का दौर शुरू हुआ। इसके बाद इस सम्राट ने कई और धातुओं के सिक्के बनवाए, जिन पर उनकी खुद की तस्वीर लगाई गई।   अगली स्लाइड में पढ़िए सोने के इतिहास से जुड़े कुछ रोचक तथ्य...  
सोने के इतिहास से जुड़े रोचक तथ्य   · 1882 से लेकर 1933 तक संयुक्त राज्य अमेरिका में पेपर करेंसी के रूप में गोल्ड सर्टिफिकेट्स इस्तेमाल किया जाता था।   · सन 1912 तक ओलंपिक खेलों में मिलने वाले गोल्ड मेडल पूरी तरह से सोने से बनते थे। 1912 के बाद बनने वाले मेडलों में केवल 6 ग्राम सोना होता है।   · चौदहवीं शताब्दी तक पिघले हुए सोने को इलाज के इस्तेमाल में लाया जाता था।   · सोने के सिक्कों के चलन से पहले लोग सामान खरीदने के लिए पशुओं का इस्तेमाल करते थे।     · इंसानों को गोल्ड का पता 7000 साल से भी ज्यादा समय से है। लेकिन दुनिया में मौजूदा गोल्ड का 75 फीसदी हिस्सा 1910 के बाद निकाला गया है। हालांकि साइंटिस्ट मानते हैं कि दुनिया में मौजूद गोल्ड का 80 फीसदी हिस्सा अभी भी जमीन के भीतर दबा हुआ है और इसे निकाला जाना बाकी है।   · वेनिस ने 1284 ईसवीं में सोने के सिक्के ‘डुकैट’ की शुरूआत की थी और इसका चलन अगले 500 साल तक दुनिया भर में जारी रहा।

More Related Blogs

Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 4 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 4 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 4 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 4 months ago 2 Views
Back To Top