सोने के बर्तन में खाना खाता था ये धनकुबेर अफसर, म‍िली अकूत संपत्

सोने के बर्तन में खाना खाता था ये धनकुबेर अफसर, म‍िली अकूत संपत्त‍ि
Aajtak 4 Jul. 2019 13:02
Aajtak Top News
फ़ॉलोअर्स 111133
फॉलो करें


मध्य प्रदेश में एक के बाद एक भ्रष्ट सरकारी अफसरों की अकूत संपत्तियों का खुलासा हो रहा है. हाल ही में जबलपुर में पीएचई के रिटायर्ड एसडीओ सुरेश उपाध्याय के यहां ई

Posted 4 months ago in Other.

User Image
Ravi Pathariya
35 Friends
5 Views
34 Unique Visitors
सोने के बर्तन में खाना खाता था ये धनकुबेर अफसर, म‍िली अकूत संपत्त‍ि
Aajtak 4 Jul. 2019 13:02
Aajtak Top News
फ़ॉलोअर्स 111133
फॉलो करें


मध्य प्रदेश में एक के बाद एक भ्रष्ट सरकारी अफसरों की अकूत संपत्तियों का खुलासा हो रहा है. हाल ही में जबलपुर में पीएचई के रिटायर्ड एसडीओ सुरेश उपाध्याय के यहां ईओडब्ल्यू ने छापे में करीब 400 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति का खुलासा किया था. इसके बाद अब लोकायुक्त की टीम ने सीधी जिले में पदस्थ सिंचाई विभाग के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर सुनील व्यास के यहां छापे मारकर करोड़ों की संपत्ति का खुलासा किया है.


लोकायुक्त की टीम ने सुनील व्यास के भोपाल और सीधी स्थित ठिकानों पर छापेमारी की. इंजीनियर के घर में कार्रवाई के दौरान लोकायुक्त की टीम के अफसर हैरान रह गए.
छापे में लोकायुक्त की टीम को लाखों के सोने और चांदी के बर्तन मिले हैं. बताया गया है कि इंजीनियर इन्हीं बर्तनों में खाना खाता है. इसके अलावा करोड़ों की प्रॉपर्टी और करीब 5 लाख के अलग-अलग कंपनियों के शेयर मिले हैं.


इंजीनियर के पास से कार्रवाई में भोपाल के गुलमोहर कॉलोनी और अरेरा कॉलोनी में दो मकान तथा होशंगाबाद जिले में तेरह एकड़ कृषि भूमि के अलावा नकदी और सोने चांदी के आभूषण जब्त किए गए हैं. लोकायुक्त की कार्रवाई में और भी बेनामी संपत्ति के खुलासे की उम्मीद है.


लोकायुक्त की टीम ने सोने-चांदी के बर्तन तोलने के लिए तराजू मंगाया. ज्वैलरी में सोने के सिक्के भी मिले हैं. चांदी के दो हाथी, चांदी की आधा दर्जन से मूर्तियां, 100 से ज्यादा सोने के सिक्के, सोने के गिलास, चांदी का डिनर सेट, चांदी का टी सेट और दो दर्जन चांदी की कटोरियां मिली हैं. भोपाल में कृष्णा विहार ग्रीन हाइट स्थित बंगले से सोने-चांदी के जेवर, कैश एवं दो गाड़ियां, बैंकों की एफडी, लॉकर एवं कई प्रॉपर्टी (अब तक लगभग 13 एकड़ कृषि भूमि की जानकारी प्राप्त ) मिली हैं.


लोकायुक्त की जांच में एक्जीक्यूटिव इंजीनियर के पास ग्राम बिजलोंन, सीहोर और गेहुंखेड़ा में फार्म हाउस, कोलार रोड पर बंगला, सहयोग परिसर ई-1 ग्रीन सिटी, कृष्णा विहार और अरेरा कॉलोनी में फ्लैट और बंगले दस्तावेज, लोन, एलआईसी, एफडी और लगभग 5 लाख के शेयर मिले हैं.


सीधी स्थित गोपाल दास रेस्ट हाउस कमरा नंबरा 1 में ईई का निवास है जहां एक टीवी, फ्रिज एवं एक ब्लूटूथ मिला है. सुनील व्यास तीन द‍िन पूर्व छुट्टी लेकर भोपाल गये थे. वे सीधी जिले की महान परियोजना में कार्यपालन यंत्री के पद पर 2018 में पदस्थ हुए थे.

संदर्भ पढ़ें रिपोर्ट
53डिसलाइक
Tags: Look chup,

More Related Blogs

Back To Top