स्कूल बंद पर 11 प्राचार्य निलंबित, 32 शिक्षकों की वेतन वृद्धि

रीवा। मप्र के रीवा जिले में संकुल प्राचार्य व शिक्षकों द्वारा बंद किए गए 23 विद्यालयों के मामले में संभागायुक्त ने कड़ा रुख अपनाया है। आयुक्त डॉ. अशोक कुमार भार

Posted 9 days ago in Other.

User Image
taniya khan
665 Friends
1 Views
1 Unique Visitors
। मप्र के रीवा जिले में संकुल प्राचार्य व शिक्षकों द्वारा बंद किए गए 23 विद्यालयों के मामले में संभागायुक्त ने कड़ा रुख अपनाया है। आयुक्त डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने 11 संकुल प्राचार्यों को निलंबित कर दिया है। साथ ही इस फर्जीवाड़े में शामिल 32 शिक्षकों की एक-एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने नोटिस दिया है।
त्योंथर के रायपुर सोनौरी में संकु ल प्राचार्य संतोष मिश्रा ने सबसे अधिक 7 विद्यालयों को बंद किया है। साथ ही प्राथमिक स्कूल के शिक्षकों को माध्यमिक शाला में पदस्थ कर दिया है, जबकि ऐसा करने का अधिकार ही नहीं था।
इन पर कार्रवाई
अवैध रुप से प्राथमिक स्कूलों को बंद करने वाले प्राचार्य में त्यौंथर अन्तर्गत शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रायपुर सोनौरी के प्रभारी संकुल प्राचार्य जयकृष्ण उपाध्याय तथा तत्कालीन प्राचार्य सन्तोष कुमार मिश्रा (वर्तमान में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कन्या पीके रीवा में पदस्थ) को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।
इसके साथ ही प्राचार्य शासकीय उच्चर माध्यमिक विद्यालय गढ़ी मसुरियादीन प्रजापति, शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय त्यौंथर हीरामणि शर्मा तथा शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चाकघाट रजितराम जाटव को भी तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।
वहीं जवा विकासखण्ड के शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सितलहा के प्राचार्य आरएन सिंह, रायपुर कर्चुलियान विकासखण्ड के शासकीय हाईस्कूल सुरसा के प्राचार्य त्रिभुवन प्रसाद शुक्ला, सिरमौर विकासखण्ड के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरौं के प्राचार्य शिव कुमार त्रिपाठी, नईगढ़ी विकासखण्ड के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय इटहाकला के प्राचार्य हिन्छलाल वर्मा।
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खर्रा के प्राचार्य लालमणि विकल तथा शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भीर के प्राचार्य आदित्यनाथ तिवारी को भी तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।
शिक्षकों को अटैचमेंट करने बंद किया था विद्यालय
संकुल प्राचार्यों ने बिना किसी सक्षम अधिकारी के आदेश के स्कूलों को बंद किया है। इन प्राचार्यों ने बिना स्वीकृति के षडयंत्र पूर्वक स्कूल बंद कराए हैं ताकि शिक्षकों को अन्य स्थानों पर संलग्न कर दिया जाए। प्राचार्यों ने इसकी सूचना किसी भी वरिष्ठ अधिकारी या कार्यालय को नहीं दी और न ही किसी प्रकार की अनुमति ली।
प्राचार्यों द्वारा स्कूलों में पदस्थ शिक्षकों की मनमाने ढंग से अन्यत्र पदस्थापना भी कर दी है। बंद कराये गये विद्यालयों के शिक्षक भी इस षडयंत्र में शामिल हैं।
संकुल प्राचार्यों को निर्देश है कि बंद कराए गएविद्यालयों को पुन: प्रारंभ कराएं। साथ ही शिक्षकों को यथावत स्कूलों में पदस्थ करें। घर-घर जाकर विद्यालयों में पुन: छात्रों का प्रवेश कराएं। अन्यथा इन संकुल प्राचार्यों से न तो कोई काम लिया जाएगा और न ही उन्हें किसी प्रकार का भुगतान किया जायेगा।

More Related Blogs

Article Picture
taniya khan 27 days ago 2 Views
Back To Top