हम्‍पटी शर्मा की दुल्‍हनिया

जब काव्‍या प्रताप सिंह, एक जिंदादिल, अंबाला की लड़की, अपनी शादी की खरीददारी करने के लिए दिल्‍ली की यात्रा पर जाने का फैसला करती है 

Posted 7 months ago in Entertainment.

User Image
Poonam Namdev
28 Friends
7 Views
32 Unique Visitors
हंप्‍टी के पिता एक किताबों की दुकान के मालिक हैं जहां हम्‍प्‍टी और उसके दो अच्‍छे दोस्‍त शांटी और पोप्‍लू बड़े हुए हैं और अभी भी वह उनके मिलने का अड्डा हैा शुरू में काव्‍या हम्‍प्‍टी के लिए अप्राप्‍य है जिसके बाद उसे वह और प्‍यारी लगती है लेकिन दिल्‍ली का लड़का होने की वजह से वह उनमें से नहीं है जो कि आसानी से हार मान जाएा

अपने दोस्‍तों की थोड़ी सी मदद के बाद, वह उसके बारे में सारी चीजें जान लेता है और घटनाओं के दिलचस्‍प मोड़ से (जिसमें काव्‍या की दोस्‍त गुरप्रीत की शादी बचाने की चाल) भी शामिल है, वे एक दूसरे के और करीब आ जाते हैं जितना ज्‍यादा वे एक दूसरे के साथ समय व्‍यतीत करते हैं, उनके प्‍यार-नफरत का मजाक और बढ़ता है लेकिन उनका प्‍यार स्‍पष्‍ट हैा वे दोनों अलग-अलग हैं लेकिन फिर भी लोगों की तरह समान हैंा वे जवान हैं, लापरवाह हैं और यही कारण है कि जो उन्‍हें एक दूसरे के प्रति आर्कषित करता हैाअंबाला लौटना होगा और उसे अच्‍छी तरह पता है कि उसके पिता, जो कि काफी सख्‍त, फिर भी दिल के अच्‍छे हैं, मि.सिंह उसके हंप्‍टी के प्‍यार को कभी नहीं स्‍वीकार करेंगेा वे दोनों प्‍यार नहीं करना चाह रहे थे पर प्‍यार हो गया अब हम्‍प्‍टी, अपने दोनों दोस्‍तों के साथ मिलकर, काव्‍या को लेने का निर्णय करता हैा

यहीं से उसकी यात्रा की शुरूआत होती है जो कि उसने अपने सपने में भी नहीं सोचा थाा हंप्‍टी, सभी बाधाओं के बावजूद, निर्णय करता है कि वह काव्‍या के परिवार को दोनों की शादी के लिए मनाएगाा कैसे वह यह सब करता है और वह अपने मिशन में सफल होता है, यह बाकी कहानी में पता चलता है जितना ज्‍यादा वे एक दूसरे के साथ समय व्‍यतीत करते हैं, उनके प्‍यार-नफरत का मजाक और बढ़ता है लेकिन उनका प्‍यार स्‍पष्‍ट हैा वे दोनों अलग-अलग हैं लेकिन फिर भी लोगों की तरह समान हैंा वे जवान हैं, लापरवाह हैं और यही कारण है कि जो उन्‍हें एक दूसरे के प्रति आर्कषित करता हैा

प्‍लान के मुताबिक, एक बार काव्‍या की यात्रा खत्‍म हुई, उसे वापस अंबाला लौटना होगा और उसे अच्‍छी तरह पता है कि उसके पिता, जो कि काफी सख्‍त, फिर भी दिल के अच्‍छे हैं, मि.सिंह उसके हंप्‍टी के प्‍यार को कभी नहीं स्‍वीकार करेंगेा वे दोनों प्‍यार नहीं करना चाह रहे थे पर प्‍यार हो गया अब हम्‍प्‍टी, अपने दोनों दोस्‍तों के साथ मिलकर, काव्‍या को लेने का निर्णय करता हैा

यहीं से उसकी यात्रा की शुरूआत होती है जो कि उसने अपने सपने में भी नहीं सोचा थाा हंप्‍टी, सभी बाधाओं के बावजूद, निर्णय करता है कि वह काव्‍या के परिवार को दोनों की शादी के लिए मनाएगाा कैसे वह यह सब करता है और वह अपने मिशन में सफल होता है, यह बाकी कहानी में पता चलता हैा  जितना ज्‍यादा वे एक दूसरे के साथ समय व्‍यतीत करते हैं, उनके प्‍यार-नफरत का मजाक और बढ़ता है लेकिन उनका प्‍यार स्‍पष्‍ट हैा वे दोनों अलग-अलग हैं लेकिन फिर भी लोगों की तरह समान हैंा वे जवान हैं, लापरवाह हैं और यही कारण है कि जो उन्‍हें एक दूसरे के प्रति आर्कषित करता हैा

प्‍लान के मुताबिक, एक बार काव्‍या की यात्रा खत्‍म हुई, उसे वापस अंबाला लौटना होगा और उसे अच्‍छी तरह पता है कि उसके पिता, जो कि काफी सख्‍त, फिर भी दिल के अच्‍छे हैं, मि.सिंह उसके हंप्‍टी के प्‍यार को कभी नहीं स्‍वीकार करेंगेा वे दोनों प्‍यार नहीं करना चाह रहे थे पर प्‍यार हो गया अब हम्‍प्‍टी, अपने दोनों दोस्‍तों के साथ मिलकर, काव्‍या को लेने का निर्णय करता हैा

यहीं से उसकी यात्रा की शुरूआत होती है जो कि उसने अपने सपने में भी नहीं सोचा थाा हंप्‍टी, सभी बाधाओं के बावजूद, निर्णय करता है कि वह काव्‍या के परिवार को दोनों की शादी के लिए मनाएगाा कैसे वह यह सब करता है और वह अपने मिशन में सफल होता है, यह बाकी कहानी में पता चलता हैा  जितना ज्‍यादा वे एक दूसरे के साथ समय व्‍यतीत करते हैं, उनके प्‍यार-नफरत का मजाक और बढ़ता है लेकिन उनका प्‍यार स्‍पष्‍ट हैा वे दोनों अलग-अलग हैं लेकिन फिर भी लोगों की तरह समान हैंा वे जवान हैं, लापरवाह हैं और यही कारण है कि जो उन्‍हें एक दूसरे के प्रति आर्कषित करता हैा

प्‍लान के मुताबिक, एक बार काव्‍या की यात्रा खत्‍म हुई, उसे वापस अंबाला लौटना होगा और उसे अच्‍छी तरह पता है कि उसके पिता, जो कि काफी सख्‍त, फिर भी दिल के अच्‍छे हैं, मि.सिंह उसके हंप्‍टी के प्‍यार को कभी नहीं स्‍वीकार करेंगेा वे दोनों प्‍यार नहीं करना चाह रहे थे पर प्‍यार हो गया अब हम्‍प्‍टी, अपने दोनों दोस्‍तों के साथ मिलकर, काव्‍या को लेने का निर्णय करता हैा

यहीं से उसकी यात्रा की शुरूआत होती है जो कि उसने अपने सपने में भी नहीं सोचा थाा हंप्‍टी, सभी बाधाओं के बावजूद, निर्णय करता है कि वह काव्‍या के परिवार को दोनों की शादी के लिए मनाएगाा कैसे वह यह सब करता है और वह अपने मिशन में सफल होता है, यह बाकी कहानी में पता चलता हैा  

जितना ज्‍यादा वे एक दूसरे के साथ समय व्‍यतीत करते हैं, उनके प्‍यार-नफरत का मजाक और बढ़ता है लेकिन उनका प्‍यार स्‍पष्‍ट हैा वे दोनों अलग-अलग हैं लेकिन फिर भी लोगों की तरह समान हैंा वे जवान हैं, लापरवाह हैं और यही कारण है कि जो उन्‍हें एक दूसरे के प्रति आर्कषित करता हैा

प्‍लान के मुताबिक, एक बार काव्‍या की यात्रा खत्‍म हुई, उसे वापस अंबाला लौटना होगा और उसे अच्‍छी तरह पता है कि उसके पिता, जो कि काफी सख्‍त, फिर भी दिल के अच्‍छे हैं, मि.सिंह उसके हंप्‍टी के प्‍यार को कभी नहीं स्‍वीकार करेंगेा वे दोनों प्‍यार नहीं करना चाह रहे थे पर प्‍यार हो गया अब हम्‍प्‍टी, अपने दोनों दोस्‍तों के साथ मिलकर, काव्‍या को लेने का निर्णय करता हैा

यहीं से उसकी यात्रा की शुरूआत होती है जो कि उसने अपने सपने में भी नहीं सोचा थाा हंप्‍टी, सभी बाधाओं के बावजूद, निर्णय करता है कि वह काव्‍या के परिवार को दोनों की शादी के लिए मनाएगाा कैसे वह यह सब करता है और वह अपने मिशन में सफल होता है, यह बाकी कहानी में पता चलता हैा  

More Related Blogs

Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 6 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 3 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 1 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 5 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 3 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 3 Views
Article Picture
Poonam Namdev 10 months ago 2 Views
Article Picture
Poonam Namdev 10 months ago 3 Views
Back To Top