हनुमान जयंती के दिन क्या करना चाहिए क्या नही करना चाहिए जानिए इस ब्लॉग से

भूलकर भी हनुमान जयंती के दिन न करें ये 5 काम

Posted 6 months ago in Other.

User Image
divya solanki
1116 Friends
21 Views
41 Unique Visitors
आज देशभर में 19 अप्रैल को हनुमान जयंती मनाई जा रही है. हिंदू धर्म के अनुसार हनुमान जयंती के दिन बंजरंग बली की पूजा करने से सभी तरह के कष्टों और भय से मुक्ति मिलती है. इतना ही नहीं लंबे समय से व्यक्ति के रुके हुए काम भी पूरे हो जाते हैं. लेकिन  कई बार लोग हनुमान जी की पूजा करते समय जाने-अनजाने कुछ ऐसी बड़ी गलतियां कर देते हैं, जिसकी वजह से बजरंग बली प्रसन्न होने की जगह नाराज हो जाते हैं. आइए जानते हैं क्या हैं वो गलतियां
लाल रंग

बजरंग बली का लाल रंग बेहद प्रिय है. ऐसे में पूजा करते समय हनुमान जी को लाल रंग के फूल, कपड़ें आदि अर्पित करें. हनुमान जी की पूजा काले या सफेद रंग के कपड़े पहनाकर बिल्कुल न करें. ऐसा करने पर आपकी पूजा पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है. पूजा करने के लिए हमेशा लाल और पीले रंग के कपड़ों का ही प्रयोग करें. 
नमक न खाएं

हनुमान जी की पूजा करने वाले भक्त को मंगलवार या हनुमान जयंती के व्रत वाले दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि दान में दी गई वस्तु, विशेष रूप से मिठाई का स्वयं सेवन न करें.
ऐसे में न करें हनुमान जी की पूजा

श्री बजरंग बली काफी शांतप्रिय देवता माने जाते हैं, इसलिए उनकी साधना बड़े ही शांत मन से करनी चाहिए. यदि आपका मन अशांत है या फिर आपको किसी बात पर क्रोध आ रहा है, तो ऐसे में हनुमान जी की पूजा न करें.
चरणामृत न चढ़ाएं 

बहुत कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि हनुमान जी की पूजा में कभी भी चरणामृत का प्रयोग नहीं किया जाता है. मांस-मदिरा का सेवन करने के बाद भी न तो हनुमान मंदिर जाएं और न ही उनकी पूजा क
स्त्रियां न करें हनुमान जी को स्पर्श

हनुमानजी की पूजा करते समय ब्रह्राचर्य व्रत का पालन करना आवश्यक होता है.इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी होने की वजह से स्त्रियों के स्पर्श से दूर रहते थे. ऐसे में पूजा के दौरान स्त्रियों को हनुमान जी को स्पर्श नहीं करना चाहिए.
हनुमान जयंती पर्व तिथि व मुहूर्त 2019

शुक्रवार 19 अप्रैल को हनुमान जन्मोत्सव के मौके पर हनुमान जी की पूजा अभिजित मुहूर्त में करना लाभकारी होगा. 19 अप्रैल को 4 बजकर 41 मिनट पर पूर्णिमा तिथि समाप्त हो जाएगी. ऐसे में इस समय से पहले अभिजित मुहूर्त रहेगा.

More Related Blogs

Article Picture
divya solanki 8 months ago 4 Views
Article Picture
divya solanki 9 months ago 22 Views
Article Picture
divya solanki 9 months ago 2 Views
Article Picture
divya solanki 9 months ago 5 Views
Article Picture
divya solanki 10 months ago 22 Views
Article Picture
divya solanki 10 months ago 56 Views
Article Picture
divya solanki 10 months ago 31 Views
Back To Top