खरगोश के बारे में रोचक तथ्य, जानकारी

खरगोश के बारे में रोचक तथ्य (facts about rabbit in hindi)

हर साल एक मादा खरगोश कम से कम नौ बच्चों को जन्म देती है।

इंसान खरगोश को उसके फर के लिए मार देते हैं। ये बहुत दुख की बात है कि इन मामलों में इस जानवर को तरह-तरह के तक्लीफ को सहना पड़ता है।

Posted 2 months ago in Other.

User Image
Dipika Solanki
267 Friends
1 Views
1 Unique Visitors
खरगोश के बारे में रोचक तथ्य (facts about rabbit in hindi)

हर साल एक मादा खरगोश कम से कम नौ बच्चों को जन्म देती है।

इंसान खरगोश को उसके फर के लिए मार देते हैं। ये बहुत दुख की बात है कि इन मामलों में इस जानवर को तरह-तरह के तक्लीफ को सहना पड़ता है।

कुत्ते और बिल्लियों से ज़्यादा, खरगोश को एक छत्त की ज़रूरत होती है।

अगर हम इनके रोज़ की आदतों में दखल देने की कोशिश भी करें, तो खरगोश हम पर हमला कर सकती है।

खरगोश सबसे ज़्यादा फुर्तीले भोर के समय में, और शाम के समय में होते हैं। बाकी के समय में वे आराम कर रहे होते हैं।

खरगोश के लिए अलग तरह के चिकित्सक होते हैं।

इनके शरीर और फर को हर रोज़ झाड़ना पड़ता है।

खरगोश, इंसानों की तरह आसानी से बोर हो जाते हैं।

इनके दाँत और नाखुन बढ़ते ही रहते हैं। इसलिए इनका बहुत ज़्यादा ध्यान रखना पढ़ता है।

बिना सावधानी के, एक खरगोश को बाहर नहीं जाना चाहिए। इससे उसको खतरा हो सकता है।

खरगोश हमेशा ही अपने आप को बहुत ताकतवर बताने की कोशिश में लगे रहते हैं।

अगर ये बीमार होते हैं, तो वे इस बात को छुपाने की पूरी कोशिश करते हैं।

हर खरगोश एक दूसरे से किसी ना किसी तरह अलग होता ही है।

खरगोश बहुत ही संवेदंशील होते हैं, और इसके कारण छोटे बच्चों को इनसे दूर रखना चाहिए।

खरगोश बहुत ही समझदार और चालाक होते हैं।

खरगोश और घोड़े, बहुत सामान्य हैं। इनके आँख़, दाँत, और कान बहुत मिलते हैं।

खरगोश उनके जन्म के समय में अंधे होते हैं।

ये जानवर 10-12 साल, या उसके ऊपर के उम्र तक जीवित रह सकते हैं।

बिल्लियों की तरह, खरगोश अपने आप को साफ रखता है।

खरगोश को स्वस्थ रहने के लिए दिन में कम से कम 4 घंटे व्यायाम और खेल की ज़रूरत होती है।

एक खरगोश के कान बहुत ही तेज़ होते हैं। वे एक ही बार में दो दिशाओं से आवाज़ सुन पाते हैं।

खरगोश के दाँत बहुत ही मज़बूत होते हैं, और ये कभी बढ़ना बंद नहीं करते।

इनके करीबन 45 प्रकार होते हैं।

इनका जीवन काल लगभग 10 साल का होता है, लेकिन सिर्फ अगर उसका अच्छे से ध्यान रखा जाए।

इनकी आवाज़ बिल्लियों से मिलती है।

खरगोश उलटी नही कर सकते हैं।

खरगोश का मांस लाल नहीं, सफेद होता है।

एक खरगोश अपने बच्चे को दिन में सिर्फ पाँच मिनट खाना खिलाती है।

ये वहाँ रहना पसंद करते हैं, जहाँ ठंडक हो।

खरगोश की नज़र भी बहुत तेज़ होती है। ये असानी से अपने पीछे भी देख पाते हैं।

खरगोश के बारे में अन्य जानकारी (more facts about rabbit in hindi)

जब खरगोश खुश होते हैं, ये कूदते हैं।

खरगोश के सिर्फ 28 दाँत होते हैं।

दुनिया का सबसे भारी खरगोश का वज़न लगभग 22 किलो है।

ये तेज़ी से दौड पाती हैं।

खरगोश से जुड़ी, पंचतंत्र की कहानी बनी है।

दुनिया का सबसे बड़ा खरगोश 16 साल का था।

खरगोश 36 इंच की ऊँचाई तक कूद सकते हैं।

खरगोश को हमेशा ज़्यादा फाइबर और कम प्रोटीन की चीज़ें खाना चाहिए।

दिन के कई घंटे ये घास खाते हैं। ये पूरी तरह से शाकाहारी होते हैं।

घास के अलावा ये फल, फल के बीज, और सब्ज़ियाँ जैसी चीज़ें भी खाते हैं।

जब इन्हें किसी के साथ रखा जाए, तो खरगोश बहुत खुश हो जाते हैं।

ये कुत्ते और बिल्ली जैसे अन्य जानवर के साथ भी रहना पसंद करते हैं।

इन्हें उल्लू और चील जैसे पक्षियों से बड़ा खतरा है।

इनके कान 4 इंच लम्बे होते हैं।

खरगोश सिर्फ घर में पाले नहीं जाते हैं। ये जंगल में भी रहते हैं।

जो खरगोश जंगल में रहते हैं, वे ज़मीन के नीचे एक गढा बनाकर, वहाँ रहते हैं।

जब इनका जन्म होता है, तो इनकए शरीर पर फर नहीं होता है।

दिन में एक खरगोश कम से कम 18 बार सोता है।

साल भर में इनके दाँत कम से कम 49 इंच बढ़ते हैं।

खरगोश बहुत ही कम रंग को पहचान पाते हैं। लाल और हरा उन में से एक हैं।

खरगोश अपने साथियों को और इंसानों को, अपना प्यार जताने के लिए चाटते हैं।

आगे के पैर पर, इनके 5 उंगलियाँ होतीं हैं, और पीछे के पैर पर 4। कुल मिलाकर, इनके 18 पैर की उंगलियाँ हैं।

खरगोश को पसीना नहीं आता है।

एक मिनट में एक खरगोश का दिल 150-200 बार धड़कता है।

खरगोश तैर सकते हैं, लेकिन ज़्यादातर खरगोशों को तैरना पसंद नहीं है।

जब हम एक खरगोश को पकड़ते हैं, या खरगोश परेशान हो, तो उसके बाल झड़ते हैं।

ये अपनी आँखें खुली रखकर सो सकते हैं।

More Related Blogs

Back To Top