AAM TAUR PAR ANTARIKSH YAATREE

AAM TAUR PAR ANTARIKSH YAATREE EYARAFORS KE BEHATAREEN PAAYALAT HOTE HAIN (SAANKETIK TASVEER)

Posted 2 months ago in .

User Image
Raj Singh
113 Friends
3 Views
3 Unique Visitors
आम तौर पर अंतरिक्ष यात्री एयरफ़ोर्स के बेहतरीन पायलट होते

हैं (सांकेतिक तस्वीर)

इसी हफ़्ते, 22 जुलाई को क़रीब दो बजकर 43 मिनट पर भारत ने चांद पर अपना दूसरा मिशन भेजा है.

भारत ने चाँद पर तब अपना यह मिशन भेजा है जब अपोलो 11 के चाँद मिशन की 50वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है.

अब भारत के पड़ोसी मुल्क़ पाकिस्तान ने भी अंतरिक्ष में

मिशन भेजने की घोषणा कर दी है. हलांकि इस घोषणा का सोशल मीडिया पर मज़ाक उड़ाया जा रहा है.

पाकिस्तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी फ़वाद हुसैन

ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने पाकिस्तान की इस अति महत्वाकांक्षी योजना के बारे में बताया.

उन्होंने लिखा है, ''मुझे ये घोषणा करते हुए बेहद गर्व का

अनुभव हो रहा है कि किसी पाकिस्तानी को पहली बार

अंतरिक्ष में भेजे जाने की प्रक्रिया की शुरुआत फ़रवरी 2020


में शुरू हो जाएगी.



50 लोगों को इसके लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा- फिर इस

लिस्ट में से 25 लोगों को चुना जाएगा और साल 2022 में हम पहली बार किसी मानव को अंतरिक्ष में भेजेंगे. यह हमारे देश

का अभी तक का सबसे बड़ा अंतरिक्ष मिशन होगा.''


फ़वाद चौधरी की इस घोषणा ने भले ही दुनिया का ध्यान

अपनी ओर नहीं खींचा लेकिन उनके इस ट्वीट पर पाकिस्तान

की सोशल मीडिया एक्टिविस्ट और टीवी पत्रकार गुल बुख़ारी

की टिप्पणी ज़रूर चर्चा में है.

अगर बात ट्विटर ट्रेंड की करें तो यह पाकिस्तान में ट्रेंड कर

रहा है.

चौधरी फ़वाद हुसैन के ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए बुखारी ने

सवाल किया है, ''क्या आप उलब्धियां बता सकते हैं? अंतरिक्ष

में एक पाकिस्तानी को भेजने के लिए पैसे खर्च करेंगे? अब

तक तो कोई वैज्ञानिक उपलब्धियां नहीं दिखी हैं.''

बुख़ारी के इस ट्वीट पर भारत और पाकिस्तान समेत कई

कोनों से लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं.

सलमान हैदर ने ट्वीट किया है, हमारे पास स्वीमिंग पूल नहीं है इसलिए हम जंगल में डूबेंगे लेकिन हम डूबेंगे.

l
सनवली नाम के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है कि पहले

धरती पर दीपक जलाएं और उसके बाद कहीं चांद-सितारों की बात करें.

वहीद लिखते हैं "हमें इस तरह की चीज़ों की ज़रूरत नहीं है.

लोग यहां भूख से मर रहे हैं और आप लोग पाकिस्तानी आवाम के पैसे को अपने ऐश ओ आराम के लिए उड़ा रहे हैं.

सबसे पहले यहां से ग़रीबी को दूर कीजिए उसके बाद अंतरिक्ष

पर भेजने की बात कीजिए."

वहीं दूसरी ओर फ़वाद के ट्वीट पर भी अलग-अलग तरह की

प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

मुरलीकृष्णा ने ट्वीट किया है कि साल 2022 का इंतज़ार करने की क्या ज़रूरत है. अपने देश का नाम चीन के सैटेलाइट

पर लिखिए और भेज दीजिए.


सिदरा कंवल लिखती हैं हमारे अनुरोध पर, नवाज़ शरीफ और ज़रदारी को भी अंतरिक्ष में भेज देना चाहिए. जितना कम,

उतनी स्वच्छता.

More Related Blogs

Article Picture
Raj Singh 2 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 2 Views
Article Picture
Raj Singh 2 months ago 1 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 3 Views
Article Picture
Raj Singh 3 months ago 2 Views
Back To Top