Ambani News

Anil Ambani: 792 रु से 6 रु तक का सफर, जानें R-Com कैसे पहुंची दिवालिया होने की कगार पर

Posted 8 months ago in News and Politics.

User Image
Shaikh Aejaz
318 Friends
7 Views
20 Unique Visitors
Anil Ambani RCom: रिलायंस कम्युनिकेशंस कैसे पहुंची दिवालिया होने की कगार पर Anil Ambani RCom: टेलिकॉम इंडस्ट्री को नया बिजनेस मॉडल सिखने वाली कंपनी अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशंस अब दिवालिया होने की कगार पर पहुंच गई है. सोमवार के कारोबार में शेयर का भाव 6 रुपये से भी नीचे चला गया और कंपनी का मार्केट कैप भी घटकर 2000 करोड़ से नीचे चला गया. जब कंपनी अपने पीक पर थी तो जनवरी 2008 के दौरान मार्केट कैप 1.66 लाख करोड़ के आस पास था. फिलहाल कंपनी खुद को दिवालिया घोषित करने के लिए एनसीएलटी का रुख करने जा रही है. एक्सपर्ट भी आरकॉम के फ्यूचर को लेकर कुछ कहने से इंकार कर रहे हैं. 11 साल में 1.64 लाख करोड़ घटी मार्केट कैप ऑर-कॉम में गिरावट का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि पिछले 10 साल में कंपनी का मार्केट कैप 97 फीसदी से ज्यादा घट गया है. जनवरी 2008 में ऑर-कॉम का मार्केट कैप 1.66 लाख करोड़ रुपए के करीब था, जो 4 फरवरी 2019 को घटकर एक समय तो 1668 करोड़ रुपए पर आ गया. इस दौरान कंपनी का मार्केट कैप 1.64 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा घट गया. 11 जनवरी 2008 को एक शेयर का भाव 792 रुपए था, जो घटकर 4 फरवरी 2019 को 6 रुपए के स्तर पर आ गया. गलत एक्सपेंशन प्लान बना मुसीबत टेलिकॉम मामलों के एक जानकार ने नाम न लेने की शर्त पर बताया कि जो ऑर-कॉम अनिल अंबानी ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी थी, गलत एक्सपेंशन प्लान की वजह से परेशानी में पड़ गई. कंपनी पर कर्ज बढ़ता गया, जो कंपनी चुकाने में नाकाम रही. वहीं साल 2016 में रिलायंस जियो के आने के बाद डाटा वार ने रही सही कसर पूरी कर दी. कैश की कमी होने से आर-कॉम इस प्रतियोगिता में नहीं टिक पाई. ये भी पढ़ें: मुकेश अंबानी की RIL बाजार की सबसे अमीर कंपनी, 8 लाख करोड़ क्लब में फिर हुई शामिल 2010 के बाद से शुरू हुई गिरावट मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी में जब बिजनेस को लेकर बंटवारा हुआ था तो अनिल अंबानी के हिस्से में टेलिकॉम कंपनी आई थी. साल 2010 तक यह एडीएजी ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी थी. 2010 तक आर-कॉम का मार्केट शेयर टेलिकॉम इंडस्ट्री में 17 फीसदी था और वह दूसरी बड़ी कंपनी थी. उसी दौरान कंपनी के विस्तार को लेकर कर्ज बढ़ना शुरू हुआ और उसका सही मैनेजमेंट नहीं हो पाया. इससे कर्ज बढ़ता गया, लेकिन उसे चुकाया नहीं जा सका, और कंपनी का वहीं से डिक्लाइन शुरू हो गया. फाइनेंशियल ईयर 2010 में कंपनी पर 25 हजार करोड़ कर्ज था, अब बढ़कर 45 हजार करोड़ हो चुका है. दिवालिया होने के लिए एनसीएलटी का रुख अब रिलायंस कम्युनिकेशंस दिवालिया घोषित होने की कगार पर खड़ी है. असल में कर्ज चुकाने में विफल रही आर कॉम डेट रिजॉल्यूशन के लिए एनसीएलटी का रुख करने जा रही है. कंपनी ने दिवालिया याचिका दायर करने का फैसला किया है. कंपनी पर करीब 45 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है. इसी के बाद सोमवार को अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप यानी ADAG कंपनियों को लेकर निवेशकों का सेंटीमेंट बिगड़ गया है. क्या कहा कंपनी ने इनसॉल्वेंसी और बैंकरप्सी कोड (IBC) के तहत कंपनी के बोर्ड द्वारा दिवालिया होने की अपील की गई है. इसके लिए वह एनसीएलटी के जरिए फास्ट ट्रैक रिजॉल्यूशन के लिए गुहार लगाएगी. आरकॉम ने शुक्रवार को कहा कि वह एनसीएलटी के प्रावधानों के जरिए जल्द अपने इस स्थिति का समाधान ढूंढेगी. कंपनी का कहना है कि कर्जदाताओं को एसेट मोनेटाइजेशन प्लान से कोई धनराशि नहीं मिली है और इसकी पूरी कर्ज समाधान प्रक्रिया में कोई प्रगति नहीं हुई. जियो के साथ नहीं बनी बात आरकॉम की मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज समूह की कंपनी रिलायंस जियो को स्पेक्ट्रम बेचने की योजना से बात नहीं बनी है. वहीं स्वीडन की दूरसंचार कंपनी एरिक्सन आरकॉम को दिवालिया घोषित करने के लिए एनसीएलटी के समक्ष याचिका दायर कर चुकी है. आरकॉम ने कहा कि पिछले 12 महीनों में 45 से कर्जदाताओं के साथ सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर हुई बैठकों में सहमति नहीं बनने की वजह से यह फैसला करना पड़ा है.
Tags: News, jio, ambani,

More Related Blogs

Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 7 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 10 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 11 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 10 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 9 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 11 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 16 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 20 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 9 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 10 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 31 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 3 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 8 months ago 5 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 7 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 6 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 34 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 26 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 28 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 204 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 53 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 22 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 8 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 4 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 1 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 2 Views
Article Picture
Shaikh Aejaz 9 months ago 7 Views
Back To Top