Apne lakshya ko kaise prapt kare, 

[1]. लक्ष्य का होना है, जरूरी

[2]. स्वास्थ्य से रहें भरपूर

Posted 6 months ago in Live Style.

User Image
Pawan Malviya
1303 Friends
3 Views
18 Unique Visitors
[1]. लक्ष्य का होना है, जरूरी - आखिर हम लक्ष्य क्यों बनाएं और क्यों है, यह जरूरी|ऐसी बातें भी सुनने को मिल जाती हैं| दोस्तो, अपने जीवन में उन्नति के लिए, आगे बढ़ने के लिए हम जो करते हैं, जिसे टारगेट करके करते हैं, वही हमारा लक्ष्य होता है| यदि आपके जीवन में आप का कोई लक्ष्य नहीं है, तो आप उस इंसान की तरह हैं, जो कहीं जा रहा है, मगर उसे ये नहीं पता, कि वह कहां जा रहा है| दोस्तो, यदि आपने अभी तक अपना लक्ष्य नहीं बनाया है, तो बना लें, सारी कहानी तो यहीं से प्रारंभ होती है|
[2]. स्वास्थ्य से रहें भरपूर -लक्ष्य को पाने के लिए आपका स्वस्थ रहना जरूरी है| स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है| लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हमें सोचना पड़ता है, श्रम करना पड़ता है| लेकिन जब तक आप स्वस्थ नहीं होंगे, कैसे कर पाएंगे, ये सब| कुछ लोग लक्ष्य को पाने के लिए हेल्थ को इग्नोर करते हैं, जो बिल्कुल भी सही नहीं है| इसलिए खुद को एक्टिव व स्वस्थ रखो|

[3]. एकाग्रता है जरूरी -दोस्तो, अपने लक्ष्य को पाने के लिए मन का एकाग्र होना जरूरी है| आज आप का मन इधर उधर भटक रहा है तो इसका मतलब ये है कि आप अपने लक्ष्य को लेकर क्लियर नहीं हैं, या फिर आप अपने लक्ष्य से संतुष्ट नहीं हैं| जरूरी यही है कि अपना लक्ष्य ऐसा बनाएं, जिसमें आपका इंटरेस्ट हो|  यदि आपका इंटरेस्ट होगा, तो एकाग्रता अपने आप आ जाएगी|

[4]. प्लानिंग करिये -दोस्तो, अपने लक्ष्य को पाने के लिए आपको उसकी योजना यानी प्लानिंग करनी होगी, कि आप कैसे अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हो, इसके लिए आपको क्या करना होगा, कहां जाना होगा इत्यादि बातों की योजना बनाइये| जितनी अच्छी आपकी योजना होगी, इतनी जल्दी ही आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे|

[5]. संकल्प लीजिए -दोस्तो, जब हम अपने लक्ष्य पर वर्क कर रहे होते हैं, तो हमारे मन में अनेक ऐसे विचार आते हैं, जो हमें अपने लक्ष्य से भटकाने का कार्य करते हैं या फिर ऐसी अनेक बाधाएं आती हैं, जो हमें अपने लक्ष्य को प्राप्त करने से रोकती हैंं, तो ऐसे में कहीं आप अपने लक्ष्य को ना भूल जाएं, इसलिए अभी आप अपने लक्ष्य का संकल्प लीजिए|

[6]. वक्त की सब बात है -वक्त एक बार चला जाए, तो फिर लौटकर नहीं आता है, सब जानते हैं| फिर भी लोग अपने समय को यूं ही बर्बाद करते हैं| समय रहते हमें अपने सभी कार्यों को साथ साथ करते रहना चाहिए, जिससे हम अपने लक्ष्य की ओर एक नियमित चाल से चलते रहें| समय को बिताना ही है, तो अच्छे कार्यों में बिताओ, जिससे आप को कुछ सीखने को मिले|

[7]. पूरा होना चाहिए फोकस -जब आपका पूरा फोकस अपने लक्ष्य पर होगा, तभी आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर पाएंगे| फोकस का सीधा सा अर्थ होता है- ध्यान देना| जब भी आप अपने लक्ष्य पर वर्क करें, पूरे ध्यान से करें| बिना फोकस कार्य करने पर गलतियां भी बहुत होती हैं, मन भी नहीं लगता है, तो इन सब से बचने के लिए आपको अपने लक्ष्य पर पूरा फोकस होना चाहिए|

[8]. वर्तमान में जियो -दोस्तो, एक होता है पास्ट, यानी जो समय बीत चुका| वह समय में आपने क्या गलतियां की, या क्या अच्छा नहीं कर पाए, इन सब बातों से अब कोई फर्क नहीं पड़ता| एक होता है फ्यूचर, यानी आने वाला समय| जिसे आप बदल सकते हो यानी अपने फ्यूचर को चमका सकते हो| ये तभी संभव होगा, जब आप अभी यानी वर्तमान में अच्छे से कार्यों को करो| वर्तमान में की गई मेहनत, आपके फ्यूचर को और अधिक अच्छा बनाएगी| इसलिए वर्तमान में जियो, जो करना है, अभी करो|

[9]. क्या है, आपकी कैपेसिटी -अपनी कैपेसिटी यानी योग्यता के अनुसार ही लक्ष्य बनाएं| एकदम बड़ा लक्ष्य बनाने में उतना फायदा नहीं है, जितना छोटे-छोटे लक्ष्यों को बनाकर उन्हें पूरा करने में| तो बस आपको यही ध्यान रखना है, कहीं आप की योग्यता आपके लक्ष्य में उलझन तो नहीं बन रही है|

[10]. खुद को इंस्पायर रखो -इंस्पायर से मतलब है, खुद को इतना उत्साहित रखो, कि लक्ष्य को छोड़कर कुछ करने की इच्छा ही ना हो| यानी निराश मत रहो, खुद को कमजोर मत समझो, मैं भी सब कुछ कर सकता हूं, ऐसी भावना रखो और अपने लक्ष्य पर बढ़ते रहो| इस प्रकार आप जल्द ही अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लेंगे|

More Related Blogs

Article Picture
Pawan Malviya 17 days ago 19 Views
Back To Top