Kerva dem (plece)

केरवा डेम रातीबढ़ रोड, भोपाल में है। भोपाल से करीब 15 किलोमीटर दूर स्थित केरवा पिकनिक स्पॉट के रूप में खासा लोकप

Posted 8 months ago in Places and Regions.

User Image
Poonam Namdev
28 Friends
6 Views
14 Unique Visitors
यहां आसपास के घने जंगलों में शेर जैसे जानवर भी विचरण करते हैं, लिहाजा आबादी के इर्द-गिर्द ही रहें। यहां एडवेंचर का अपना एक अलग आनंद हैं। यह सुरम्य स्थल ईको टूरिज्म का हिस्सा है। ऊंची पहाड़ियों और हरियाली से घिरे इस डेम में मध्यप्रदेश ईको पर्यटन विकास बोर्ड द्वारा हाई डेन्सिटी पॉली यूरेथिन पैलिकन बोट चलाई जा रही है।मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम और मध्यप्रदेश ईको पर्यटन विकास बोर्ड ने केरवा में एक नया पर्यटन स्थल ‘पिकनिक एट भोपाल’ विकसित किया है। एक एकड़ क्षेत्र में फैले इस पिकनिक स्पॉट का पर्यटकों से मात्र पांच रुपये प्रति व्यक्ति की दर से शुल्क लिया जाता है। इस पिकनिक स्थल पर आने वाले पर्यटकों के लिये व्यू प्वाइंट, बच्चों के लिये पार्क, झूले, फिसलपट्टी, बैठने के लिये सिट आउट, पाथ-वे आदि का निर्माण किया गया है। भोपाल से यहां खुद के वाहन से पहुंचा जा सकता है। यदि आप कभी केरवा की सैर पर जाएं तो यहां अकेले जाने से बचें, क्योंकि सुरक्षा के लिहाज से यह एकांत क्षेत्र जोखिम भरा है। वन्यप्राणियों की मूवमेंट के साथ ही यहां जंगलों के बीच एकांत क्षेत्रों में अपराधिक तत्व भी सक्रिय हैं।केरवा डेम रातीबढ़ रोड, भोपाल में है। भोपाल से करीब 15 किलोमीटर दूर स्थित केरवा पिकनिक स्पॉट के रूप में खासा लोकप्रिय है। दूर-दूर तक हरे-भरे जंगलों के बीच स्थित यह मनोरम स्थल बारिश के दौरान खूबसूरती का श्रृंगार कर लेता है। यहां आसपास के घने जंगलों में शेर जैसे जानवर भी विचरण करते हैं, लिहाजा आबादी के इर्द-गिर्द ही रहें। यहां एडवेंचर का अपना एक अलग आनंद हैं। यह सुरम्य स्थल ईको टूरिज्म का हिस्सा है। ऊंची पहाड़ियों और हरियाली से घिरे इस डेम में मध्यप्रदेश ईको पर्यटन विकास बोर्ड द्वारा हाई डेन्सिटी पॉली यूरेथिन पैलिकन बोट चलाई जा रही है।मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम और मध्यप्रदेश ईको पर्यटन विकास बोर्ड ने केरवा में एक नया पर्यटन स्थल ‘पिकनिक एट भोपाल’ विकसित किया है। एक एकड़ क्षेत्र में फैले इस पिकनिक स्पॉट का पर्यटकों से मात्र पांच रुपये प्रति व्यक्ति की दर से शुल्क लिया जाता है। इस पिकनिक स्थल पर आने वाले पर्यटकों के लिये व्यू प्वाइंट, बच्चों के लिये पार्क, झूले, फिसलपट्टी, बैठने के लिये सिट आउट, पाथ-वे आदि का निर्माण किया गया है। भोपाल से यहां खुद के वाहन से पहुंचा जा सकता है। यदि आप कभी केरवा की सैर पर जाएं तो यहां अकेले जाने से बचें, क्योंकि सुरक्षा के लिहाज से यह एकांत क्षेत्र जोखिम भरा है। वन्यप्राणियों की मूवमेंट के साथ ही यहां जंगलों के बीच एकांत क्षेत्रों में अपराधिक तत्व भी सक्रिय हैं।
Tags: Kerva dem,

More Related Blogs

Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 3 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 1 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 5 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 3 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 3 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 2 Views
Article Picture
Poonam Namdev 9 months ago 3 Views
Back To Top