rahul gandhi

अंबानी ने यह पत्र 12 दिसंबर, 2017 को लिख था। पत्र गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के अंतिम दिन लिखा गया। गुजरात

Posted 1 year ago in News and Politics.

User Image
nikki gautam
13 Friends
6 Views
232 Unique Visitors
पीढ़ियों से गांधी परिवार के साथ अपने ‘सम्मान वाले संबंधों’ का जिक्र करते हुए अंबानी ने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं द्वारा उनके तथा समूह के खिलाफ बयानों से दुखी हैं। दो पृष्ठ के पत्र में अंबानी ने लिखा है, ‘न केवल हमारे पास जरूरी अनुभव है बल्कि रक्षा विनिर्माण के कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हम सबसे आगे हैं।’अंबानी ने यह भी कहा कि फ्रांसीसी समूह डसॉल्ट द्वारा उनकी कंपनी को स्थानीय भागीदार के रूप में चुनने में सरकार की कोई भूमिका नहीं है। इस पत्र में अंबानी ने गांधी को यह स्पष्ट किया था कि उनके रिलायंस समूह को अरबों डॉलर का यह सौदा क्यों मिला है। उल्लेखनीय है कि राफेल सौदे को लेकर राहुल गांधी लगातार सरकार पर हमला कर रहे हैं।लेकिन अब राहुल गांधी राफेल डील में रिलायंस समूह को इस सौदे के जरिए लाभ पहुंचाए जाने को लेकर सवाल किया। जिसपर उद्योगपति अनिल अंबानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को राफेल सौदे पर पत्र लिखा। अंबानी ने इन आरोपों को खारिज किया है कि उनके रिलायंस समूह के पास राफेल लड़ाकू जेट सौदे के लिए अनुभव की कमी है।कांग्रेस का दावा है कि यूपीए सरकार ने जिस विमान की डील की थी, उसी विमान को मोदी सरकार तीन गुना कीमत में खरीद रही है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि इस नई डील में किसी भी तरह की टेक्नोलॉजी के ट्रांसफर की बात नहीं हुई है। पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी के मुताबिक यूपीए सरकार की डील के अनुसार, 126 में से 18 एयरक्राफ्ट ही फ्रांस में बनने थे बाकी सभी HAL के द्वारा भारत में बनने थे। राहुल गांधी फ्रांस के साथ राफेल डील को लेकर लगातार सरकार पर हमला कर रहे हैं। हालांकि राफेल डील को लेकर राहुल गांधी ने अब तक जितने दावे किए हैं उसकी हवा फ्रांस की तरफ से जारी बयान ने निकाल दी। वहीं सरकार की तरफ से भी राफेल डील को लेकर राहुल गांधी के दावे पर जर्बदस्त जवाब दिया गया है जिसके बाद राहुल के पास बोलने को कुछ रह नहीं गया है।
Tags: lookchup,